अन्य राज्य

राष्ट्रीय स्तर की तीरंदाज सोनू, सड़को पर सब्जी बेचने को मजबूर

धनबाद। बदहाल आर्थिक स्थिति के कारण सब्जी बेचने को मजबूर राष्ट्रीय स्तर की तीरंदाज सोनू खातून को झारखंड सरकार ने बुधवार को 20 हजार रुपये का चेक सौंपा। राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने धनबाद के उपायुक्त को सोनू खातून को जरूरी सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा, यह कष्टदायक है कि सोनू अपने परिवार के भरण पोषण के लिए सब्जी बेचने को मजबूर है। प्रवक्ता ने बताया कि यह तीरंदाज धनुष टूट जाने के कारण खेल में सक्रिय रूप से भाग नहीं ले पाई और उन्हें सब्जी बेचकर अपनी और परिवार की आजीविका चलानी पड़ रही है।

उन्होंने कहा, इस तीरंदाज को सहायता स्वरूप 20 हजार रुपये का चेक प्रदान किया गया। भविष्य में भी इन्हें जिला प्रशासन द्वारा हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी। धनबाद जिला तीरंदाजी संघ के जुबेर आलम ने बताया कि 18 वर्षीय सोनू ने 2011 में राष्ट्रीय स्कूल गेम्स में कांस्य पदक जीता था। तीन बहनों में सबसे बड़ी सोनू के घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है।

पुणे मे जीता था कांस्य पदक
बता दें कि सोनू ने कई राज्य और राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया। वह टाटा आर्चरी अकैडमी में भी रही हैं। 2 साल पहले उनका धनुष टूट गया और उसके बाद सोनू की प्रैक्टिस छूट गई। सोनू के पिता मजदूर हैं और मां घरों में सफाई का काम करती हैं। कोरोना वायरस के बाद हुए लॉकडाउन के चलते उनकी नौकरी छूट गई और सोनू को सड़क पर बैठकर सब्जी बेचनी पड़ रही है।

loading...
Loading...

Related Articles