संतकबीर नगर

संत कबीर नगर, 794 टीमों के साथ स्वास्थ्य विभाग आज शुरू करेगा संचारी रोग नियंत्रण अभियान

 

–    पूरे जनपद में ये टीमें करेंगी संचारी रोगों को लेकर लोगों का संवेदीकरण
–    आशा कार्यकर्ता के नेतृत्‍व में काम करने वाली टीम में होंगे 3 सदस्‍य

*संतकबीरनगर, 30 जून 2020 ।*
विविध प्रकार के संचारी रोगों से बचाव के लिए जिले मे संचारी रोग अभियान की शुरुआत 1 जुलाई से की जाएगी। इसके लिए तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। इस अभियान के लिए जिले में 794 टीमों का गठन किया गया है। ये टीमें पूरे जनपद में घूमकर संचारी रोगों के प्रति लोगों को जागरुक करेंगी। इसके लिए ब्‍लाक व ग्रामसभावार  ड्यूटी लगा दी गई है। साथ ही विभागों के साथ समन्‍वयक को लेकर बैठक भी हो गई है।

यह जानकारी देते हुए सीएमओ डॉ हरगोविन्‍द सिंह ने बताया कि विभिन्‍न प्रकार के संचारी रोगों के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए यह संचारी रोग अभियान 1 जुलाई से शुरु होकर 31 जुलाई तक चलेगा। फिजिकल डिस्‍टेंसिंग तथा कोविड प्रोटोकाल को मेण्‍टेन करते हुए लगातार 1 माह तक चलने वाले इस अभियान का शुभारंभ बुधवार को होगा। इसके लिए जिले के 10 स्‍वास्‍थ्‍य क्षेत्रों में कुल 794 टीमें बनाई गई हैं। हर टीम में एक आशा कार्यकर्ता, एक सफाईकर्मी तथा 1 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रहेगी। यह टीम गांवों में जाकर हर घर के लोगों को संचारी रोगों से बचने के लिए जागरुक करेगी। संवेदीकरण का कार्य आगामी 15 जुलाई तक चलेगा। जिला संचारी रोग अधिकारी डॉ ए के सिन्‍हा ने कार्य में लगे हुए टीम के सभी सदस्‍यों से यह अपील की है कि सभी अपनी जिम्‍मेदारियों का निर्वहन करते हुए लोगों को संचारी रोगों से बचाने के लिए आगे आएं।

*दस्‍तक अभियान के लिए जारी है आशा कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण*

जिला मलेरिया अधिकारी अंगद सिंह ने बताया कि दस्‍तक अभियान आगामी 16 जुलाई से 31 जुलाई तक चलाया जाएगा। इसके लिए आशा कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है। यह प्रशिक्षण आगामी 5 जुलाई तक चलेगा। दस्‍तक के दौरान इंसेफेलाइटिस के प्रति लोगों को जागरुक किया जाएगा।

*कोविड प्रोटोकाल मेण्‍टेन करें आशा कार्यकर्ता – डॉ वी पी पाण्‍डेय*

एसीएमओ वेक्‍टर बार्न डॉ वी पी पाण्‍डेय ने बताया कि आशा कार्यकर्ता गृहभ्रमण के दौरान कुण्‍डी या दरवाजा नहीं खटखटाएगी बल्कि लोगों को नाम लेकर बुलाएगी। साथ ही फिजिकल डिस्‍टेंसिंग का भी पूरी तौर पर अनुपालन किया जाएगा। कोई भी आशा कार्यकर्ता अभियान से वापस लौटने के बाद हाथों को साबुन से धोकर ही अपने घर के अन्‍दर जाएगी तथा अपने वस्‍त्रों को स्‍वच्‍छ रखेगी। रास्‍ते में कहीं या किसी के भी घर कुछ भी खाने पीने की बिल्‍कुल मनाही है। वह मास्‍क लगाए रखे। साथ ही लोगों को मास्‍क लगाने तथा फिजिकल डिस्‍टेंसिंग का अनुपालन करने के लिए भी प्रेरित करती रहे।

loading...
Loading...

Related Articles