मनोरंजन

सुशांत सिंह राजपूत आत्म्हत्या: डिप्रेशन से #MeToo तक, संजना सांघी ने खोले कई राज

मुंबई: बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में जहां उनके फैंस और कुछ सेलेब्स सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं, वहीं पुलिस लगातार इस सुसाइड केस को सुलझाने में लगी हैं. 34 साल की उम्र में सुशांत ने ये कदम क्यों उठाया, इस गुत्थी को सुलझाने के लिए बांद्रा पुलिस लगातार उनके करीबियों के साथ उन लोगों से भी पूछताछ कर रही है. इस मामले में पुलिस ने मंगलवार (30 जून) को सुशांत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा’ की लीड एक्ट्रेस संजना सांघी से करीब 9 घंटे तक पूछताछ की.

9 घंटे की पूछताछ में पुलिस ने ये किए सवाल
सुशांत सिंह राजपूत के साथ उनकी आखिरी फिल्म में काम कर चुकीं संजना सांघी मंगलवार को बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचीं. पुलिस ने उनसे भी लंबी पूछताछ की. 9 घंटे की पूछताछ में पुलिस ने संजना से शूटिंग के दौरान सुशांत सिंह राजपूत पर लगाए गए मी टू (Metoo) के आरोपों के साथ फिल्म के दौरान उनके डिप्रेशन में जाने से जुड़े कई अहम सवाल पूछे.

2018 में पहली बार हुई थी सुशांत के साथ मुलाकात
एक्ट्रेस ने अपने बयान में बताया कि साल 2018 में फिल्म के ऑडिशन के बाद कॉस्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा ने उन्हें फिल्म दिल बेचारा के लिए चुना था. मुकेश छाबड़ा ही इस फिल्म के डायरेक्टर भी हैं. संजना ने कहा कि मुझे बाद में मालूम हुआ कि मैं इस फिल्म में सुशांत सिंह राजपूत के अपोजिट लीड रोल में हूं. उन्होंने कहा कि फिल्म के सेट पर दोनों पहली बार मिले थे.

मीटू के आरोपों पर क्या बोलीं संजना
संजना ने पुलिस को बताया कि उन्होंने सुशांत पर कभी भी मीटू का आरोप नहीं लगाया था और न ही कभी उनके साथ कभी इस तरह की कोई घटना हुई थी. साल 2018 में जब मीटू कैम्पेन चल रहा था. तब उस समय किसी ने ये अफवाह उड़ा दी था कि सुशांत ने मुझे गलत तरीके से छुआ है और मैंने ये आरोप लगाए, जो गलत थे, मैंने ऐसा कभी नहीं किया था.

MeToo के आरोपों से अंजान थीं एक्ट्रेस
संजना सांघी ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि जिस दौरान सुशांत पर मेरे नाम से किसी मीटू के आरोप लगाए, उस दौरान मैं अपनी मां के साथ यूएस घूमने गई थी. मुझे इन बातों की कोई जानकारी नहीं थी. उन्होंने बताया कि मुझे बिलकुल पता ही नहीं था कि मेरे नाम से सोशल मीडिया, अखबार और टेलीविजन पर ऐसे रहा है, वापस लौटने पर मुझे ये सारी जानकारी हुई.

सोशल मीडिया पर दी थी सफाई
संजना ने पुलिस से कहा कि उन्होंने यूएस से वापस लौटने के बाद सोशल मीडिया पर सफाई दी और बताया की ये सब झूठी कहानी है और मेरे साथ ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है.

MeToo के आरोपों से डिप्रेशन में आ गए थे सुशांत
संजना ने आगे बताया कि भारत वापस आने के बाद उन्होंने मुकेश छाबड़ा और सुशांत दोनों से मुलाकात की थी. सुशांत इस वाक्ये के बाद से डिप्रेशन में आ गए थे. सुशांत ने संजना से बातचीत में इस बात का जिक्र किया था कि मीटू कैंपेन के बहाने उन्हें कैसे बदनाम करने की साजिश रची गई थी और किस तरह से उन्हें ट्रोल किया जा रहा था. सुशांत इस बात से इस हद दबाव में आ गए थे कि उन्होंने अपनी बात और झूठे अरोपों को नकारने के लिए सोशल मीडिया पर दोनों के बीच हुई चैट के स्क्रीनशॉट तक डाले. संजना सांघी के मुताबिक, उन्हें इस पर बिल्कुल एतराज नहीं था क्योंकि आरोप फर्जी थे, अफवाह थी और ऐसे में सुशांत के पास कोई रास्ता नहीं था.

इन आरोपों के बाद धीरे-धीरे हुए थे नॉर्मल
संजना ने पुलिस को बताया कि फिल्म की शेड्यूल शूटिंग शुरू होने पर भी सुशांत को खुद को रिकवर करने में थोड़ा वक्त लगा. मैं और मुकेश छाबड़ा हमेशा उनके साथ ही थे. लेकिन इस बारे में उन्हें बिल्कुल नहीं पता था कि सुशांत के पास फिल्में कौन कौन सी है या फिर वो डिप्रेशन में है.

कभी नहीं किया परेशानी का जिक्र
संजना सांघी के मुताबिक, सुशांत शूट पर काफी नॉर्मल और प्रजेंस ऑफ माइंड रखनेवाले व्यक्तियों में से एक थे. उनकी निजी जिन्दगी में क्या चल रहा है, ये कभी सुशांत डिस्कस ही नहीं करते थे. हालांकि जब भी परिवार की बातें हुई तो वो अपने पटना में स्थित परिवार के सदस्यों और कुछ हास्यास्पद किस्से बता देते थे लेकिन सुशांत के डिप्रेशन में होने की जानकारी नहीं थी. उन्होंने बताया कि ज्यादातर हमारी बात फिल्म को लेकर ही हुई, जिसमें सुशांत ने हमेशा मोटिवेट ही किया.

loading...
Loading...

Related Articles