राष्ट्रीय

मुहब्बत में संदीप से बना था आंतकी ​आदिल , पाकिस्तान में ली थी ट्रेनिंग

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सोमवार 10 जुलाई को लश्कर-ए-तैयबा के आतंकी संदीप शर्मा उर्फ आदिल को गिरफ्तार कर बड़ी कामयाबी हासिल करने का दावा किया था।

पुलिस के मुताबिक उन्होंने एक नए मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया। वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक संदीप उर्फ आदिल की गिरफ्तार के बाद यूपी एटीएस की टीम और अन्य सुरक्षा एजेंसियों ने उससे पूछताछ की है। पूछताछ में यह पता चला है कि उसने सरहद पार लश्कर के आतंकी कैंप में जाकर हथियार चलाने की ट्रेनिंग ली। वहीं उसने एटीएस को यह भी बताया है कि एक रिटायर इंस्पेक्टर की बेटी से प्यार के चलते उसने इस्लाम धर्म अपनाया था लेकिन उस लड़की से उसकी शादी नहीं हो पाई। खबरों के मुताबिक एटीएस अब लड़की के बारे में भी जम्मू-कश्मीर पुलिस की मदद से जानकारी जुटाने की कोशिश में है।
वहीं एटीएस की पूछताछ में संदीप ने तीन आतंकी वारतादों को अंजाम देने की बात कुबूली है। 3 जून 2017 को काजीगुंड मे आर्मी काफिले पर हमला, 13 जून 2017 को अनंतनाग से जस्टिस निवास गार्ड पोस्ट से हथियार लूटने और 16 जून 2017 को अनंतनाग जिले के अचबल में पुलिस पार्टी (हमले में 6 जवान शहीद) पर हमले में शामिल होने की बात उसने कुबूल की है। वहीं राज्य में बीते कुछ महीनों में हुई कई एटीएम लूट से भी उसने अच्छा पैसा मिलने की बात बताई है। हालांकि गिरफ्तारी के बाद उसके पास से पैसा बरामद नहीं हुआ है। एटीएस पैसों का पता लगाने की भी कोशिश कर रही है। वहीं आदिल ने यह भी बताया है कि वह चेकिंग से बचने के लिए अपनी संदीप शर्मा नाम की आईडी का इस्तेमाल करता था। संदीप ने बताया कि उसने अपने आई कार्ड का कई बार फायदा उठाया है। जब उसे चेकिंग के लिए रोका जाता था तो वह इसी नाम से बनी हुई आईडी को दिखाकर बच निकलता था।

गौरतलब है संदीप शर्मा की गिरफ्तारी के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस महानिरीक्षक मुनीर खान ने उसके बारे में काफी जानकारी दी थी। संदीप उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर का निवासी था। आईजीपी खान ने बताया था कि जांच में पता चला था कि संदीप वर्ष 2012 में घाटी में आया था।

loading...
Loading...

Related Articles