बिहार

राज्य के बाहर से आये श्रमिकों को सतत रूप से रोजगार उपलब्ध हो

Continually available employment to workers from outside the state

पटना। जिलाधिकारी कुमार रवि ने राज्य के बाहर से आए श्रमिकों को सरकार द्वारा प्रदत्त दिशा निर्देश के अनुरूप रोजगार उपलब्ध कराने हेतु अधिकारियों के साथ हिंदी भवन स्थित अपने कार्यालय प्रकोष्ठ में बैठक की तथा आवश्यक निर्देश दिया। जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना के माध्यम से औद्योगिक इकाइयों की स्थापना की जानी है जिसमें राज्य के बाहर से आये श्रमिकों को सतत रूप से रोजगार उपलब्ध हो। इसके लिए जिलाधिकारी ने व्यापक प्रचार प्रसार करने तथा इच्छुक लोगों से विहित प्रपत्र में आवेदन प्राप्त करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने सरकारी योजनाओं के कार्यान्वयन करने वाले विभागों को भी श्रमिकों को अल्पकालिक रोजगार में संलग्न करने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने राज्य के बाहर से आए श्रमिकों को हरेक स्तर पर सहयोग एवं सहायता करने का निर्देश दिया। इस क्रम में उन्होंने सामाजिक सुरक्षा की योजनाओं में प्रवासी मजदूरों एवं उसके आश्रितों का अधिकतम आच्छादन करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि समेकित बाल विकास परियोजना के तहत प्रवासी श्रमिकों के बच्चों को आंगनवाड़ी केंद्रों के माध्यम से सरकारी योजनाओं का लाभ मिले। उन्होंने जन वितरण प्रणाली की दुकानों के माध्यम से भी अपेक्षित सहयोग प्रदान करने का निर्देश दिया। अर्थात सरकार द्वारा संचालित सभी संभव योजनाओं से श्रमिकों को जोड़ने एवं लाभ पहुंचाने का निर्देश दिया।जिला औद्योगिक नवप्रवर्तन योजना के तहत उत्पादन इकाइयों की स्थापना कर श्रमिकों को रोजगार का अवसर प्रदान करने की योजना है। इसके तहत है चार प्रक्षेत्रों के लिए श्रमिकों का समूह क्लस्टर के रूप में गठित करने का निर्देश दिया।

पेवर ब्लॉक के लिए अथमलगोला।
फ्लाईएश ब्रिक के लिए बख्तियारपुर।
रेडीमेड गारमेंट्स के लिए विहटा।
मशीन फेब्रिकेशन के लिए विहटा।
रंगाई के लिए विक्रम।

बैठक में उप विकास आयुक्त रिची पांडेय, महाप्रबंधक जिला उद्योग केंद्र उमेश कुमार, सहित कई अन्य अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे।

loading...
Loading...

Related Articles