बिहार

अतिक्रमण हटाओं अभियान को ठेंगा दिखा रहे अतिक्रमणकारी

Remove encroachment, encroaching on the campaign

बिक्रमगंज। स्थानीय शहर में सड़क जाम की समस्या से लोगों को निजात दिलाने के लिये प्रशासन के द्वारा कई बार अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया गया। सभी मुख्य पथों में सड़क से 27 फीट के अंदर लगाये गये सभी दुकानों को बल पूर्वक हटा दिया गया। इस अभियान समाप्त होने के साथ ही अधिकतर दुकानदार प्रशासन और उनके अभियान को ठेंगा दिखाते हुये पुन: उसी जमीन पर काबिज हो गये। फर्क सिर्फ इतना है कि उस समय उनका दुकान झोपड़ी या गुमटी में हुआ करता था, लेकिन अब उनका दुकान ठेले पर आ गया। फिर लॉकडाउन के नाम पर तेंदुनी चौक पर फल के दुकानों और सासाराम रोड से सब्जी की दुकानों को हटाया गया।

कुछ ही दिनों के बाद चौक पर पुन: फल के दुकान और सड़क के किनारे सब्जी की दुकाने सज गई। सभी जनरेटर आज भी अपने स्थान पर ज्यों का त्यों बरकरा है। अतिक्रमणकारी तूं डाल-डाल तो मैं पात-पात के तर्ज पर स्थानीय प्रशासन को चुनौती दे रहे है। प्रशासन के लाख प्रयास के बावजूद भी लोगों को सड़क जाम से राहत नहीं मिल सकी है। पूरे दिन रूक-रूक कर सड़क जाम की समस्या उत्पन्न हो रही है। वाहनों के पड़ाव नहीं होने के कारण सभी छोटी-बड़ी गाड़ियां आज भी सड़कों पर ही खड़ी हो रही है।

इन वाहनों के पास ठेले-खोमचे वालों का जमावड़ा लगा रहता है। शहर के तेंदुनी चौक और थाना चौक पर टेंपों वालों का पूरी तरह से कब्जा है। पूर्व की तरह यत्र-तत्र टेंपों को खड़ा करने का कार्य आज भी जारी है। इन पर प्रशासन का कोई नियंत्रण नहीं है। जिससे सड़क जाम की समस्या आज भी कायम है। इस संबंध में एसडीएम विजयंत कुमार से पूछे जाने पर कहते है कि अतिक्रमण के विरूद्ध में अभियान चलाया जाएगा। ठेला पर स्थायी दुकान लगाने पर समान सहित ठेला जब्त कर लिया जायेगा।

loading...
Loading...

Related Articles