महाराजगंज

अड्डा बाजार नौतनवां में एक निजी क्लीनिक पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमारी कर किया सील

सीएमओ ए के श्रीवास्तव के निर्देश पर बुधवार को सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र लक्ष्मीपुर के अधीक्षक डॉ दिवाकर राय और सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र रतनपुर के अधीक्षक डॉ अमित राव गौतम द्वारा एक प्राइवेट क्लीनिक पर छापा मारकर सील किया गया है।

महराजगंज, नौतनवां थाना क्षेत्र के अड्डा बाजार में एक निजी क्लीनिक पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने छापेमारी कर सील कर दिया। सीएमओ ए के श्रीवास्तव के निर्देश पर बुधवार को सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र लक्ष्मीपुर के अधीक्षक डॉ दिवाकर राय और सामुदायिक स्वाथ्य केन्द्र रतनपुर के अधीक्षक डॉ अमित राव गौतम द्वारा एक प्राइवेट क्लीनिक पर छापा मारकर सील किया गया है। छापेमारी से निजी अस्पताल संचालकों में हड़कंप मच गया है। खबरों के मुताबिक दो वर्ष पूर्व अड्डा बाजार के ही सचिन पुत्र सुभाष की किसी अज्ञात कारणों से मृत्यु हो गयी थी वहीं सुभाष चन्द्र अपने पुत्र सचिन के मृत्यु का आरोप डॉ पी के बोस पर लगाते हुए एक शिकायती पत्र सीएमओ महराजगंज और एक पत्र जन सूचना आयोग लखनऊ में दिया था। डॉ दिवाकर राय ने बताया शिकायत संख्या एस 3-514 सी/2018 जन सूचना आयोग लखनऊ के पत्र एवं सुभाष चन्द्र अग्रहरी के पत्र के दृष्टिगत हमारी टीम ने छापा मारा है। छापेमारी के दौरान डॉ पीके बोस को स्वयं के आवास में चिकित्सा करते पाया गया इस संदर्भ में उक्त प्राईवेट चिकित्सक द्वारा मौके पर किसी भी प्रकार का अभिलेख प्रस्तुत नहीं किया गया। डॉ दिवाकर राय के द्वारा इंडियन मेडिकल काउंसिल एक्ट 1956-15 कि के अन्तर्गत प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज कराया गया है। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि डॉक्टर पी के बॉस हमारे लिए भगवान समान हैं ये कभी किसी की जान नहीं ले सकते। जब हमारे गांव और अगल बगल में कोई डॉक्टर नहीं था तब से यह हमारा इलाज कर रहे हैं अबतक किसी के साथ ऐसा नही हुआ ये आरोप सरासर झूठ और गलत है।

loading...
Loading...

Related Articles