अयोध्याउत्तर प्रदेश

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की 18 जुलाई को होगी बैठक

ट्रस्ट महासचिव चम्पतराय ने दी जानकारी

अयोध्या। श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की बैठक 18 जुलाई को अयोध्या में ही होगी। यह बैठक राम जन्मभूमि परिसर स्थित मानस भवन में ही बुलाई गयी है। उक्त् जानकारी ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने रामघाट स्थित रामजन्मभूमि कार्यशाला में पत्रकारों को दी। उन्होंने बताया कि इस बैठक में भारत सरकार की ओर से नामित सभी 15 पदाधिकारी व सदस्य शामिल होंगे। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार भारत सरकार की ओर से पांच फरवरी 2020 को घोषित ट्रस्ट की पहली बैठक 20 फरवरी को नई दिल्ली स्थित ट्रस्ट के कार्यालय में हुई थी। इसके बाद दूसरी बैठक चार अप्रैल को अयोध्या में प्रस्तावित थी लेकिन कोविड-19 की वैश्विक महामारी को लेकर 25 मार्च से घोषित देशव्यापी लॉकडाउन के कारण बैठक को स्थगित करना पड़ा। तब से लेकर बैठक की प्रतीक्षा की जा रही है।
ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने स्पष्ट किया कि ट्रस्ट की अगली बैठक 18 जुलाई को अयोध्या में तय है। उन्होंने बताया कि इस बैठक में मंदिर निर्माण विषय पर रूपरेखा निर्धारित की जाएगी। उन्होंने जानकारी दी कि रामजन्मभूमि परिसर में करीब तीन एकड़ भूमि का समतलीकरण कार्य पूरा हो चुका है और अब इस स्थान पर मैपिंग की जा रही है। मैपिंग कार्य मंदिर निर्माण की कार्यदाई संस्था एलएण्डटी के इंजीनियर कर रहे हैं। उधर रामजन्मभूमि में विराजमान रामलला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए प्रस्तावित मंदिर मॉडल के शिल्पकार आशीष सोमपुरा ने अपने अयोध्या प्रवास के दूसरे दिन रामघाट स्थित रामजन्मभूमि कार्यशाला का निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने मंदिर निर्माण के लिए तराशे गये पत्थरों की सफाई कार्य का भी निरीक्षण किया। इसके साथ कार्यदाई संस्था केएलए कांस्ट्रक्शन कं. लि. के इंजीनियरों को आवश्यक निर्देश दिया। इस दौरान श्री सोमपुरा ने मंदिर निर्माण की कार्यदाई संस्था एलएण्डटी के अधिकारियों के साथ भी कार्यशाला में मीटिंग कर 67.077 एकड़ परिसर की कार्ययोजना पर मंथन किया। इस इस मौके ट्रस्टी डा. अनिल मिश्र, मंदिर निर्माण की कार्यदाई संस्था एलएण्डटी के इंजीनियर पंकज श्रीवास्तव व विहिप के केन्द्रीय मंत्री राजेन्द्र सिंह पंकज व रामजन्मभूमि कार्यशाला प्रभारी अन्नूभाई सोमपुरा भी मौजूद रहे।

loading...
Loading...

Related Articles