महाराजगंज

महराजगंज जिले के भारत नेपाल सीमा पर अब तक की सबसे बड़ी छापेमारी

पडिय़ाताल, राजाबारी, मरचहवा, लक्ष्मीपुर खुर्द चौकी सीमा से कनाडियन मटर, पाकिस्तानी छुहाड़ा, इलायची, लौंग, काली मिर्च की तस्करी का गढ़ माना जाता है। भारत नेपाल सीमा कोरोना महामारी के कारण 25 मार्च से सील चल रहा है। यह भारत नेपाल सीमा पर अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी प्रशासन के हाथ लगी।

महराजगंज , ठूठीबारी के लक्ष्मीपुर खुर्द गाँव में शुक्रवार की शाम को पुलिस और एसएसबी की संयुक्त छापेमारी कर करोड़ों की लगभग 5000 बोरी हरा कनाडियन मटर बरामद किया गया। बदस्तूर दूसरे दिन शनिवार को भी छापेमारी जारी रही। सूत्रों के मुताबिक तस्करों में चर्चा है कि अगर चौकी इंचार्ज कड़ाई नहीं करते तो हम सभी का समान नहीं पकड़ा गया होता। मुखबिर के जरिए लक्ष्मीपुर खुर्द चौकी इंचार्ज को सूचना मिली जिस पर एसएसबी व पुलिस के संयुक्त छापेमारी में हजारों बोरा कनाडियन मटर बरामद किया गया। पूरी रात मुस्तैद रहे एसएसबी व पुलिस के जवान सभी तस्करों में खलबली मचा दी। तस्कर को इस बात की भनक भी न थी कि इतनी बड़ी कार्रवाई हो सकती है। पडिय़ाताल, राजाबारी, मरचहवा, लक्ष्मीपुर खुर्द चौकी सीमा से कनाडियन मटर, पाकिस्तानी छुहाड़ा, इलायची, लौंग, काली मिर्च की तस्करी का गढ़ माना जाता है। भारत नेपाल सीमा कोरोना महामारी के कारण 25 मार्च से सील चल रहा है। यह भारत नेपाल सीमा पर अब तक की सबसे बड़ी कामयाबी प्रशासन के हाथ लगी। सूत्रो के अनुसार बड़ी कार्रवाई का कारण तस्करों में आपसी फूट माना जा रहा है। जब एक के वहां तस्करी का माल बरामद हुआ, तो दूसरे ने सभी तस्करों का नाम लिखकर दे दिया। जिससे पता चला कि किन-किन घरों में तस्करी का माल छिपा कर रखा गया है। ग्रामीणों के अनुसार उपरोक्त बरामद माल मात्र दो दिनों का नेपाल से आया मटर है। इससे प्रतीत होता है कि सरकारी राजस्व का तस्करों द्वारा जबरदस्त चूना लगाया जा रहा है। छापेमारी टीम में एसएसबी के कमांडेंट मनोज कुमार सिंह, सहायक सेनानायक अंजनी तिवारी, अपर पुलिस अधीक्षक निवेश कटियार, क्षेत्राधिकारी देवेंद्र कुमार, कोतवाली प्रभारी ठूठीबारी विजय नरायन प्रसाद, चौकी इंचार्ज नीरज राय, एवं एसएसबी के महिला व पुरुष जवान मौजूद रहे।

loading...
Loading...

Related Articles