हरदोई

पौराणिक सूर्य कुण्ड तालाब श्रद्वालुओं के आस्था का प्रतीक-पुलकित खरे

तालाब की सुरक्षा,सफाई एवं रख-रखाव की जिम्मेदारी प्रधान व ग्रामवासियों की- जिलाधिकारी

द्वापर युग मे कुंती ने यहीं की थी उपासना

हरदोई।84 कोसी प्ररिक्रमा के चौथे पड़ाव पर पड़ने वाले ब्लाक कोथावां के ग्राम उमरारी में स्थित पौराणिक सूर्य कुण्ड तालाब का उद्घाटन जिलाधिकारी पुलकित खरे ने फीताकाट कर वैदिक मंत्रोच्चारण एवं पूजा अर्चना के साथ किया और इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सूर्य कुण्ड तालाब के किनारे वृक्षारोपण करने के उपरान्त सूर्य कुण्ड तालाब की परिक्रमा करने के साथ ही मंदिर में भगवान के दर्शन किये।इस अवसर पर जिलाधिकारी ने उपस्थित प्रधान प्रतिनिधि एवं ग्रामवासियों से कहा कि विगत फरवरी माह में चौरासी कोसी परिक्रमा के दौरान इस पौराणिक सूर्य कुण्ड तालाब को देखा था। उस समय तालाब काफी जीर्ण-क्षीर्ण स्थिति में था और तभी उनके द्वारा इसका जीर्णोद्धार कराने का निर्णय लेते हुए मनरेगा से इसका वृहद स्तर पर कार्य,परिक्रमा पथ का निर्माण एवं सौंदर्यीकरण कराकर इस ऐतिहासिक तालाब का उद्घाटन किया गया है।
उन्होने कहा कि चौरासी कोसी परिक्रमा एवं अन्य महीनों में मंदिर में लगने वाले मेलों में आने वाले श्रद्वालुओं को सूर्य कुण्ड में स्नान करने के लिए शुद्व पानी उपलब्ध रहेगा और इसके लिए समर सेबुल की भी व्यवस्था कराई गयी है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता वत्स, उप जिलाधिकारी सण्डीला मनोज कुमार श्रीवास्तव, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट लक्ष्मी एन, डीसी मनरेगा, अपर जिला सूचना अधिकारी दिव्या निगम आदि ने भी वृक्षारोपण किया।उन्होने गांववासियों से कहा कि अब इस पवित्र सूर्य कुण्ड तालाब श्रद्वालुओं के आस्था का प्रतिक है और इसकी सुरक्षा, सफाई एवं रख-रखाव की जिम्मेदारी आप लोगों की है, इसलिए यहां आने वाले लोगों को जागरूक करें कि कुण्ड एवं मंदिर परिसर में सफाई रखें तथा गंदगी न करें। इसके उपरान्त उन्होने ग्राम उमरारी में ही स्थित राम तालाब पर मनरेगा से चल रहे जीर्णोद्धार कार्य का निरीक्षण किया और तालाब के किनारे वृक्षारोपण किया। जिलाधिकारी ने तालाब के पास स्थिति जीर्ण-क्षीर्ण दो कुओं को देखा और ग्राम प्रधान एवं सचिव कहा कि एक सप्ताह में दोनों कुओं की जल श्रोत तक सफाई कराने के साथ ही कुओं के चारों ओर चबूतरा का निर्माण करायें।इस अवसर पर प्रमोद सिंह चंदौेल ने बताया कि जिलाधिकारी महोदय के निर्देशानुसार सूर्य कुण्ड तालाब के जीर्णोद्धार का कार्य के लिए 1150 मानव दिवस सृजित कर रू0-274171.00 की लागत से कराया गया है और राम तालाब का जीर्णोद्धार रू-258017.00 की अनुमानित लागत से कराया जा रहा है। सूर्य कुण्ड तालाब के अच्छे कार्यो पर जिलाधिकारी ने डीसी मनरेगा, ग्राम प्रधान एवं सचिव की प्रशंसा भी की।

loading...
Loading...

Related Articles