बिहार

पुलिस-अपराधी बीच चली गोलीबारी,दो अपराधी गिरफ्तार

Firing between police and criminal, two criminals arrested

गंगा रजक,संवाददाता

मुंगेर। कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत गार्डन बाजार निवासी गोलू राम की हत्या मामला का पटाक्षेप पुलिस ने घटना के 6 घंटे के अंदर दो आरोपियों को गिरफ्तार कर की हैं। और हत्या में प्रयुक्त हथियार एवं मोटरसाइकिल भी बरामद की है। मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए सदर एएसपी हरिशंकर कुमार के नेतृत्व में छापामारी दल का गठन किया गया। कासिम बाजार थाना क्षेत्र में देर रात्रि कर्बला समीप जाँच के क्रम में बाईक सवार दो युवकों को जाते देखा। पुलिस ने रुकने का इशारा किया मगर चकमा देकर गंगा नदी की ओर भागने लगा। पुलिस ने खदेड़ कर दबोच लिया। एसपी ने बताया गिरफ्तार युवक रूपेश कुमार साकिन कैथमा बेगूसराय और रघुवीर कुमार साकिन हीरा लाल चौक नगर थाना जिला बेगूसराय निवासी है। गिरफ्तार युवक ने हत्या में संलिप्तता स्वीकार किया।और पास से एक 7.65 एमएम सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल, मैगजीन, 7.65 एमएम की 4 गोलियां, एक देसी पिस्तौल तथा .315 बोर की 4 गोलियां बरामद की गई।
मुंगेर पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि हत्या के बाद हत्यारा भागना चाह रहा था। मगर पुलिस संधन जाँच व दबिश के कारण अपराधी नहीं भाग सका। आगे कहा गिरफ्तार अपराधी अनुसार रूपेश कुमार के जेल जाने के बाद पत्नी सपना दो साल पूर्व मुंगेर चली आई। रुपेश जब जेल से निकला तो पत्नी को खोजते हुए ससुराल आया और वहां साला से विवाद होने के बाद इसने उसकी हत्या कर दी। रुपेश और रघुवीर दोनों दोस्त हैं। और बेगूसराय से दोनों साथ ही मुंगेर आए थे। हत्या के बाद वापस बेगूसराय जाने का लाख प्रयास किया लेकिन चारों ओर पुलिस की दबिश देख अपराधियों ने सुबह होने के बाद बेगूसराय जाने का निश्चय किया। और इधर उधर गलियों में भटकते रहे। तभी पुलिस की नजर पड़ गयी और रुकने का इशारा किया।
एसपी ने बताया कैथमा जिला बेगूसराय निवासी रुपेश पिछले 11 सालों से अपराध जगत में सक्रिय है। और छः बार जेल जा चुका हैं। उन्होंने बताया कि उसके बेगूसराय समस्तीपुर में बाईक लूट, रंगदारी, डकैती, हत्या, हत्या के प्रयास, आर्म्स एक्ट सहित अनेक मामला दर्ज है।

7 साल पहले किया प्रेम विवाह, 2 साल पहले पत्नी ने तोड़ा नाता

रूपेश ने सपना के साथ सात साल पूर्व प्रेम विवाह किया था। सपना का ननिहाल बेगूसराय में है और वहीं दोनों की जान पहचान प्रेम में बदल गई। इस बीच कई बार जेल की यात्रा करना पड़ा। जिसे तंग आ चुकी थी। और 2 साल पहले जब रूपेश जेल में था तब सपना पति को छोड़कर मुंगेर चली आई। आगे बताया जब 15 दिन पहले रुपेश जेल से बाहर आते ही पत्नी को खोजते हुए वह मुंगेर पहुंचा। और इसके बाद साले से इसका विवाद हुआ और उसकी गोली मारकर हत्या कर दी और साला की हत्या करने के बाद इसने अपनी साली को भी हत्या की धमकी दे डाला।

कासिम बाजार थाना ने गिरफ्तार अपराधियों को भेजा जेल

पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि सिम बाजार थाना क्षेत्र में हुई फायरिंग के मामले में स्थानीय थाना में प्राथमिकी दर्ज की गई है। थानाध्यक्ष शैलेश कुमार के बयान पर दर्ज प्राथमिकी के अनुसार वाहन चेकिंग के दौरान रोके जाने पर अपराधियों द्वारा पुलिस दल पर गोली चलाई गई थी। आत्मरक्षार्थ पुलिस बल द्वारा भी गोली चलाई गई. इंस्पेक्टर विनय सिंह, थानाध्यक्ष शैलेश कुमार तथा कुछ अन्य सिपाहियों द्वारा रुक-रुक कर दो घंटा तक फायरिंग की गई। तत्पश्चात दोनो को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अपराधियों को कासिम बाजार थाना में दर्ज प्राथमिकी के मामले में जेल भेजा गया है तथा कोतवाली थाना की पुलिस हत्या के मामले में गिरफ्तार अपराधियों को रिमांड करेगी।

घटना के 2 घंटे के अंदर उद्भेदन, 6 घंटे के अंदर गिरफ्तारी

कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत हुए हत्या के मामले का उद्भेदन पुलिस ने 2 घंटे के अंदर ही कर लिया गया। परिजनों से पूछताछ के बाद ही यह स्पष्ट हो गया था कि घटना को अंजाम देने में मृतक के साले का ही हाथ है और उसके बाद पुलिस ने चारों तरफ जाल बिछा दिया था। दोनों अपराधी बेगूसराय के रहने वाले हैं और मुंगेर से इनका कोई ज्यादा वास्ता नहीं था सिवाय इसके कि रुपेश की यहां ससुराल थी और ससुराल में यह हत्या की वारदात को अंजाम दे चुका था।और दोनों अपराधियों को बेगूसराय वापस जाना था और यही कारण है कि काफी संख्या में पुलिस बल को सड़कों की नाकाबंदी में लगा दिया गया था। घटना के छ्ह घंटे के अंदर ही घटना को अंजाम देने वाले दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया तथा घटना में इस्तेमाल होने वाले हथियारों और बाइक को भी बरामद कर लिया गया।

loading...
Loading...

Related Articles