धर्म - अध्यात्म

अगर आप भी हैं शत्रुओं से परेशान तो करें ये उपाय फिर देखें कमाल

हर कोई अपनी जिन्दगी में खुश है घर हो या औफिश हर कोई चाहता है उसका जीवन शान्त मय और खूबसूरत हो लेकिन कभी—कभी जीवन में ऐसे भी लोग आ जाते हैं जिन्हें किसी दूसरे कि खुशी देखी नहीं जाती है वो लोगो को परेशान करने के नय—नय रास्ते देखते रहते हैं जिन्हें हम आम बोल चाल की जबान में दुश्मन भी कहे है तो चलिए जानते हैं कैसे मिले दुश्मनों से छुटकारा..

कैसे पायें शत्रुओं से छुटकारा

दोस्तों जीवन में कभी ना कभी ऐसा समय जरुर आता है जब लोग आपके दुश्मन बन जाते है. इसके कई कारण हो सकते है जैसेकि आपका सफल होना, आपका व्यवहार या पुरानी शत्रुता. ऐसे में आपके शत्रु आपको बार बार परेशान करने और आपको चोट पहुंचाने की कोशिश करते रहते है, जिससे आपको जान माल और समय की हानि होती है. इसलिए जरूरी है कि आप अपनी इस समय का समाधान जरुर करें. परन्तु अब सवाल ये आता है कि कैसे? चिंता ना करें क्योकि आज हम आपको कुछ ऐसे ही उपायों के बारे में बताने वाले है जिनको अपनाकर आप अपने शत्रुओं पर विजय पा सकते हो.

शत्रुओं पर विजय पाने के उपाय :

  • पहला उपाय :अगर आपको लगता है कि आपके शत्रु ने आपको परेशान करने के लिए आप पर जादू टोना कराया है तो आप 38 काली उड़द के दाने और 40 दाने चावल के लें. अब एक गड्ढा बनायें और इन्हें उस उस गड्ढे में डाल दें. इसके बाद आपको एक नीम्बू लेना है और उसे काटकर गड्ढे के ऊपर नीचोड़ देना है. इस प्रक्रिया के दौरान आपको उस व्यक्ति का नाम लेते रहना है जो आपको परेशान कर रहा है या आपको शत्रु बना हुआ है. इस उपाय के प्रभाव से वो व्यक्ति फिर कभी आपको परेशान करने की कोशिश नहीं कर पाता.
  • दुसरा उपाय :शत्रुओं पर विजय प्राप्त करने या फिर अपने शत्रुओं को अपना मित्र बनाने के लिए आप शत्रु शाबर मंत्र ( नृसिंहाय विद्यहे, बज्र नखाय धि मही तान्नो नृसही प्रचोदयात ) का इस्तेमाल भी कर सकते हो. इस मंत्र का जाप आपको हर रोज सूर्योदय से पहले करना है. ये मंत्र इतना प्रभावशाली माना जाता है कि आपके शत्रु अपनी शत्रुता को भूलकर हमेशा के लिए आपके मित्र बन जाते है.
  • तीसरा उपाय :वहीँ अगर आपके शत्रु आपको जीने ही नहीं दे रहे तो आपको अमावस्या या रविवार के दिन काली माता की पूजा करनी चाहिए. पूजा के लिए आपको सबसे पहले काले रंग के कपडे पर माता काली की तस्वीर रखनी है और फिर साधारण तरीके से पूजा आरम्भ करनी है. परन्तु पूजा के बाद आप एक नीम्बू लें और उसपर अपने शत्रु का नाम लिखें. नाम लिखते वक़्त आप माता से प्रार्थना करें कि वो आपको आपके हर शत्रु से मुक्ति दिलाएं. अंत में आप काले हकिक की माला लें और 11 माला माता काली के मंत्र ( क्री क्रीम शत्रु नाशिनी क्रीम क्री फट|| ) का जाप करें. प्रत्येक माला जाप के बाद आप नीम्बू पर थोड़ी सी उड़द की डाल जरुर चढ़ाएं और अंत में नीम्बू को किसी मटके में डालकर उसे आसन वाले काले कपडे से बाँध दें. धीरे धीरे आपके शत्रुओं का प्रभाव कम होता जाएगा और वे अपनी शत्रुता भूलकर आपकी तरफ मित्रता का हाथ बढ़ाएंगे.
  • चौथा उपाय :आप 1 मुठ्ठी नमक लें और शाम को सूरज छिप जाने के बाद उसे अपने सिर से 3 बार वारकर घर के मुख्य दरवाजे से बाहर फेंक दें. ये उपाय आपको 3 दिनों तक अपनाना है. अगर आपको फिर भी आराम नहीं मिलता है तो आपको नमक को अपने ऊपर से वारकर शौचालय में डालना है और फ्लश कर देना है. आपको निश्चित रूप से लाभ मिलेगा.
  • पांचवा उपाय :मंगलवार के दिन मोर पंख लेकर हनुमान जी के मंदिर में जाएँ और वहाँ हनुमान जी के माथे से सिंदूर लेकर मोर पंख पर अपने शत्रु का नाम लिखें और प्रार्थना करें कि अब कभी आपका शत्रु आपको परेशान ना करें. इसके बाद पंख को लेकर घर आ जाएँ और अगले दिन सुबह जल्दी उठकर बिना स्नान किये ही मोर पंख को किसी बहते पानी में डाल आयें. जल्द ही आपके शत्रु आपको परेशान करना बंद कर देंगे.
  • छठा उपाय :अगर कोई व्यक्ति आपको बेवजह परेशान कर रहा है तो आप जहाँ भी बैठे हो वहाँ अगर पानी है तो पानी पर ही अपने शत्रु का नाम लिखें और उस जगह पर 3 बार ठोकर मारें. लेकिन आप इस बात का ध्यान जरुर रखें कि इस उपाय को आप अपने स्वार्थ के लिए ना अपनाएँ वर्ना इसके नकारात्मक प्रभाव भी हो सकते है.

तो दोस्तों ये है कुछ आसान से उपाय और टोटके, जो आपको शत्रुओं से होने वाली परेशानी से मुक्त कराते है और आपके शत्रुओं को भी आपका हितेषी बना देते है. इसलिए अगर आपका भी कोई शत्रु है या कोई आपको बेवजह परेशान कर रहा है तो आप इन उपायों को अपनाकर उनसे मुक्ति पा सकते हो.

loading...
Loading...

Related Articles