Main Sliderलखनऊ

इनामी गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी, बेटा और नौकर भी गिरफ्तार

लखनऊ। इनामी गैंगस्टर विकास दुबे की पत्नी, बेटा और नौकर को लखनऊ के कृष्णानगर से गिरफ्तार कर तीनों से एसटीएफ पूछताछ कर रही है। कानपुर में सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का मुख्य आरोपी विकास दुबे गुरुवार को फिल्मी अंदाज में उज्जैन के महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लिया गया। पांच लाख के इनामी गैंगस्टर को पुलिस सेंटर में रखकर पूछताछ की जा रही है।

विकास सुबह 8:50 बजे विकास महाकाल मंदिर पहुंचा था। बाहर केशव नाम के दुकानदार की फल और पूजन सामग्री की दुकान पर उसने मंदिर में दर्शन को लेकर वीआईपी पर्ची कटाने के बारे में जानकारी मांगी। इसके बाद 250 रुपए में पर्ची कटवाई। केशव को शक हुआ तो उसने मंदिर में तैनात सिक्योरिटी गार्ड राहुल को जानकारी दी। राहुल हिस्ट्रशीटर के पास पहुंचा तो विकास ने उससे कहा कि उसका नाम नवीन पाल है। इस पर गार्ड ने आईडी मांगी तो विकास ने शुभम दुबे नाम की फर्जी आईडी दिखाई। गार्ड को संदेह हुआ तो उसने महाकाल थाना पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची तो गार्ड ने विकास को सौंप दिया। जब पुलिस उसे गाड़ी में बैठाने लगी तभी वह जोर से चिल्लाया कि मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला।

पुलिस विकास को लेकर पहले अज्ञात जगह गई, फिर पुलिस सेंटर लाकर पूछताछ की गई। मंदिर के बाहर से लखनऊ के नंबर प्लेट की एक कार बरामद की गई है। गाड़ी का मालिक वकील है और उनके साथ एक अन्य अधिवक्ता भी था। उज्जैन पुलिस इनके विकास कनेक्शन को लेकर पूछताछ कर रही है। उज्जैन के कलक्टर और पुलिस के वरिष्ठ अफसरों ने कानपुर के पुलिस अधिकारियों को विकास के पकड़े जाने की सूचना दी।

‘पूरे गैंग के पकड़े जाने तक अभियान जारी रहेगा’
प्रदेश के एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा है कि विकास दुबे गैंग के सभी सदस्यों की गिरफ्तारी होने तक पुलिस का अभियान जारी रहेगा। सभी दोषियों को कानून के हवाले कर कड़ी सजा दिलवाने की कोशिश की जाएगी। उन्होंने कहा कि न्यायिक प्रक्रिया के तहत विकास दुबे पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेकर यूपी लाया जा रहा है। विकास दुबे के यूपी में न पकड़े जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि पूरे देश की पुलिस एक है। मध्य प्रदेश पुलिस हमसे अलग नहीं है। घटना के दिन से ही यूपी पुलिस लगातार इस गैंग के लोगों का पीछा कर रही है। उज्जैन में विकास के पकड़े जाने के घटनाक्रम पर उन्होंने यह कहते हुए कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया कि सभी तथ्यों के बारे में पूरी जानकारी मिलने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है।

loading...
Loading...

Related Articles