अन्य खबरकारोबार

Microsoft के जरिए हैकर्स इस तरह बना रहें यूजर्स को अपना निशाना, हो जाएं सावधान नहीं तो अगला निशाना कहीं आप तो नहीं

भारत में हैकर्स Microsoft Office से बना रहें यूजर्स को अपना निशाना, Microsoft Office के मुताबिक हैकर्स ने 62 देशों में यूजर्स को टारगेट किया। जानकारी के मुताबिक हैकर्स दिसंबर 2019 से MS Office यूजर्स को निशाना बना रहे हैं। मौजूदा समय में कोरोना वायरस पेंडेमिक का झांसा देकर फिशिंग ईमेल के जरिए लोगों को अपना शिकार बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अगर आप भी एमएस ऑफिस का इस्तेमाल करते हैं तो आपको फर्जी ईमेल से अलर्ट रहने की जरूरत हैं। माइक्रोसॉफ्ट ने मंगलवार को अपने एक ब्लॉग पोस्ट में यह जानकारी दी।

कंपनी ने कहा कि यह स्कैम काफी बड़े पैमाने पर किये जाने की कोशिश हैकर्स कर रहे थे जिससे कई मिलियन Microsoft Office 365 यूजर शिकार बन सकते थे।माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि इस फिशिंग कैंपेन को काफी बड़े स्तर पर अंजाम देने की कोशिश की जा रही थी। जालसाजों ने एक हफ्ते में ही कई लाख Microsoft Office 365 यूजर्स के अकाउंट में सेंध लगाने की कोशिश की।62 देशों में यूजर्स को टारगेट किया। जानकारी के मुताबिक हैकर्स दिसंबर 2019 से MS Office यूजर्स को निशाना बना रहे हैं।

मौजूदा समय में कोरोना वायरस पेंडेमिक का झांसा देकर फिशिंग ईमेल के जरिए लोगों को अपना शिकार बनाने की कोशिश कर रहे हैं। अगर आप भी एमएस ऑफिस का इस्तेमाल करते हैं तो आपको फर्जी ईमेल से अलर्ट रहने की जरूरत हैं। माइक्रोसॉफ्ट ने मंगलवार को अपने एक ब्लॉग पोस्ट में यह जानकारी दी।

कंपनी ने कहा कि यह स्कैम काफी बड़े पैमाने पर किये जाने की कोशिश हैकर्स कर रहे थे जिससे कई मिलियन Microsoft Office 365 यूजर शिकार बन सकते थे।माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि इस फिशिंग कैंपेन को काफी बड़े स्तर पर अंजाम देने की कोशिश की जा रही थी। जालसाजों ने एक हफ्ते में ही कई लाख Microsoft Office 365 यूजर्स के अकाउंट में सेंध लगाने की कोशिश की।

इस फिशिंग कैंपेन के जरिए माइक्रोसॉफ्ट यूजर्स दुनिया भर के कई बिजनस लीडर्स के एमएस ऑफिस अकाउंट में सेंध लगाने की कोशिश कर रहे थे। इन बिजनसमेन के वायर ट्रांसफर पर भी हैकर्स की नजर थी।

माइक्रोसॉफ्ट ने अपने ब्लॉग पोस्ट में बताया कि कोर्ट से परमिशन लेकर हैकर्स की तरफ से इस्तेमाल किए जा रहे डोमेन को टेक ओवर कर लिया। इन डोमेन का इस्तेमाल यूजर्स को फिशिंग ईमेल भेजने को लिए किया जा रहा था।

माइक्रोसॉफ्ट के मुताबिक हैकर्स यूजर को फंसाने के लिए फर्जी डोमेन्स का इस्तेमाल करके ईमेल करते हैं जिनमें वह खुद को किसी बड़ी कंपनी का कर्मचारी बताते हैं। ईमेल के जरिए हैकर्स ऐप्लीकेशंस भेजते हैं। कंपनी के मुताबिक ये ऐप्लीकेशंस काफी ‘फैमिलियर लुकिंग’ होते हैं। इनके झांसे में आने वाले यूजर्स अनजाने में अपने एमएस ऑफिश 365 के अकाउंट का एक्सेस हैकर्स को दे बैठते हैं।

loading...
Loading...

Related Articles