बिहार

पटना में लॉकडाउन से सड़कों पर पसरा सन्नाटा,बाजार और मॉल बंद

Lockdown in Patna, silence on roads, markets and malls closed

रूपेश रंजन सिन्हा

पटना। पटना जिले में कल से लॉकडाउन लागू हो गया है। यह 16 जुलाई तक प्रभावी रहेगा। शुक्रवार को राजधानी पटना के प्रमुख मार्गों पर इक्का दुक्का वाहन ही दिखे। वहीं बाजार और मॉल बंद होने से सड़कों पर सन्नाटा पसरा दिखा। गुरुवार को प्रमंडलीय आयुक्त संजय कुमार अग्रवाल ने लॉकडाउन के पहले तैयारी की समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन का सख्ती से अनुपालन कराया जाए इसलिए ठोस प्रबंध हो। आयुक्त ने अपर समाहर्ता (विधि व्यवस्था) को मजिस्ट्रेट, पुलिस पदाधिकारी व पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति करने तथा लॉकडाउन को प्रभावी बनाने का निर्देश दिया। उन्होंने सड़क पर रोको-टोको और सघन वाहन र्चेंकग अभियान चलाने तथा मास्क का प्रयोग सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। ड्राइवर एवं यात्री दोनों को मास्क लगाना अनिवार्य है। इस दौरान प्रशासन संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करेगा। इसके बाद आगे की रणनीति तय की जाएगी।

लॉकडाउन के दौरान लोगों को जरूरी सामग्री मिले, इसके लिए प्रशासन ने दो पालियों में दुकानों को खोलने का निर्देश दिया है। पहली पाली यानी सुबह छह से दस बजे तक किराना, दूध, मांस-मछली, फल-सब्जी आदि की दुकानें खुली रहेंगी। शाम को चार से सात बजे तक जरूरी सामग्री की दुकानों को खोलने का निर्देश दिया गया है। निर्धारित समय के बाद दुकानें नहीं खुलेंगी। पार्क और चिड़ियाघर नियत अवधि तक खुले रहेंगे।

आयुक्त ने सभी थाना प्रभारियों को निर्देश दिया है कि अपने-अपने क्षेत्र में माइक के जरिये लोगों को जानकारी दें कि क्या खुला है और क्या बंद है। यदि किसी को जानकारी नहीं है तो उसे सूचना दें। यदि इसके बावजूद कोई नियम का उल्लंघन करता है तब उसके खिलाफ कार्रवाई करें। लोगों को अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकलने दें। भीड़ इकट्ठा न हो दें।

प्रमंडलीय आयुक्त ने नगर निगम के आयुक्त को निर्देश दिया है कि अभियान चलाकर भीड़भाड़ वाले इलाके को सेनेटाइज करें। बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन तथा सार्वजनिक स्थल को पूरी तरह से सेनेटाइज करने को कहा। कंटेनमेंट जोन को भी सेनेटाइज करने का निर्देश दिया।

loading...
Loading...

Related Articles