जौनपुर

हिरासत में लिए गए युवक को पुलिस ने छोड़ा

सुरेरी– शनिवार की भोर में लगभग पाच बजे विकास सिंह नामक युवक ने कंट्रोल रूम पर फोन करके सूचना दिया की सुरेरी थाना क्षेत्र के अडियार गांव निवासी दिपेद्र उपाध्याय पुत्र सतीश उपाध्याय अपने पास अवैध असलहा रखा हुआ है। हरकत में आई पुलिस भोर में ही दिपेद्र उपाध्याय के घर पहुंच गई और उसे अपने साथ थाने लेकर आ गई, थाने पर पहुंचने पर दिपेद्र को यह बताया गया कि विकास सिंह नामक युवक द्वारा कंट्रोल रूम पर फोन करके शिकायत किया गया है | कि आपके पास अवैध असलहा रखा हुआ हैं। वही पुलिस को दिपेद्र उपाध्याय से आवश्यक पूछताछ के दौरान जब कोई साक्ष्य नहीं मिला तो पुलिस पुनः कंट्रोल रूम पर शिकायत किए गए युवक विकास सिंह से बातचीत की और विकास सिंह को थाने पर पहुंचकर आवश्यक साक्ष्य दिखाने को कहा, वही साक्ष्य दिखाने के नाम पर विकास सिंह खुद को लखनऊ में मौजूद होना बताकर बाद में साक्ष्य दिखाने की बात करने लगा। वही पुलिस हिरासत में लिए युवक से आवश्यक पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया। हिरासत में लिए गए युवक का कहना है कि वह बीए द्वितीय वर्ष का छात्र है, उसे साजिस के तहत फसाने का कार्य किया जा रहा है। शिकायतकर्ता विकास सिंह कौन है वह उसे भी नही जानता। फिलहाल अगर हिरासत में लिया गया युवक दोषी नहीं है, तो पुलिस गलत सूचना देने वाले के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करने से क्यों कतरा रही है। यह क्षेत्रीय लोगो में चर्चा का विषय बना हुआ हैं। इस संदर्भ में थानाध्यक्ष सुरेरी श्याम दास वर्मा ने बताया कि कंट्रोल रूम पर की गई थी शिकायत पर युवक को हिरासत में लिया गया था, लेकिन कोई साक्ष्य न मिलने व शिकायतकर्ता द्वारा कोई साक्ष्य न दिखा पाने की वजह से हिरासत में लिए गए युवक को छोड़ दिया गया है, वही पुलिस से जब यह पूछा गया कि झूटी सूचना देने वाले के खिलाफ कोई कार्यवाही हुई है, तो उन्होंने चुप्पी साध ली।

loading...
Loading...

Related Articles