उरई

भाजपा जिलाध्यक्ष के पैतृक गांव में मिले दो कोरोना मरीज

जालौन/उरई। भाजपा जिलाध्यक्ष के पैतृक गांव में परिवार के दो लोग कोरोना पाॅजिटिव निकले। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने गांव में जाकर गांव के मुख्य रास्तों को सील किया। वहीं, एसडीएम ने गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित कर गांव में सभी व्यवसायिक गतिविधियों को बंद करने के निर्देश दिए। इसके अलावा बीडीओ को गांव में आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी सुनिश्चित करने के लिए वेंडरों का निर्धारण करने के निर्देश दिए।
तहसील क्षेत्र के गांव लौना भाजपा जिलाध्यक्ष का पैतृक गांव है। उनके परिवार के सदस्य पैतृक गांव में ही रहते हैं। कोरोना की जांच में उनके परिवार के एक दंपत्ति कोरोना पाॅजीटिव पाए गए। यह सूचना जैसे ही प्रशासन को मिली तो तहसीलदार बलराम गुप्ता, बीडीओ महिमा विद्यार्थी पुलिस बल के साथ गांव में पहुंच गए। जहां उन्होंने गांव के मुख्य रास्तों पर बैरीकेटिंग कराकर उसे सील कराया। साथ ही एसडीएम सुनील कुमार शुक्ला ने गांव को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए वहां 250 मीटर की दायरे में सभी प्रकार की व्यवसायिक गतिवधियों को बंद करने के आदेश जारी किए। इसके अलावा गांव के लोगों को आवश्यक वस्तुओं के लिए कोई दिक्कत न हो इसके लिए बीडीओ को निर्देश दिए कि गांव में आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी सुनिश्चित कराई जाए। इसके लिए वेंडरों को चिन्हित कर उन्हें उनके मोबाइल नंबर गांव में चस्पा कराएं और गांव में आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी कराई जाए। तहसीलदार व बीडीओ ने गांव के लोगों से अपील की है कि वह अपने घरों में ही रहें। कोरोना किसी को भी हो सकता है। इससे बचने के लिए आवश्यक है कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। घरों से अनावश्यक रूप से बाहर न निकलें। मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करें। यदि आप बचाव के नियमों को अपनाते हैं तभी आप कोरोना से सुरक्षित रह सकते हैं। साथ ही उन्होंने प्रधान शिवेंद्र सिंह सेंगर व लेखपाल लवि गुप्ता को निर्देश दिया है कि गांव को सैनिटाइज कराएं।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button