पटनाबिहार

एसडीओ द्वारा 144 की कार्रवाई का आदेश को मजाक मानती है पटना पुलिस , हिंसा के लिए करती हैं प्रेरित !

विवादित जमीन पर यथा स्थिति और शांति व्यवस्था लागू रखने का आदेश ,  रोक के बावजूद निर्माण

>> पीडि़त का आरोप – थानेदार कहते है हम पहरेदार है, जहां जाना है जाएं

रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । जमीनी विवाद में पुलिस को सीमित अधिकार दिये गये हैं । इसमें पहली कार्रवाई विवादित जमीन पर यथा स्थिति व शांति -व्यवस्था बनाएं रखने की होती हैं । वहीं पटना पुलिस की कर्तव्यहिनता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की एसडीओ ने धारा 144 की कार्रवाई पूर्व थानाध्यक्ष से विवादित जमीन से संबंधित रिपोर्ट मांगी और विवादित जमीन पर यथा स्थिति एवं शांति -व्यवस्था बनाएं रखने का निर्देश दिया है।  पीड़ित पक्ष महिला जब शाहपुर थानाध्यक्ष से विवादित ज़मीन पर निर्माण कार्य रोकने की गुहार लगाई तो थानेदार ने जबाब दिया की हम पहरेदार है क्या , जहां जाना है जाएं । क्या ऐसा ही व्यवहार पुलिस -पब्लिक को फ्रेंडली बनता हैं । अब सवाल उठता हैं की क्या पुलिस लोगों को हिंसा के लिए प्रेरित करती हैं ।रिकॉर्ड के अनुसार बिहार में  80 % अपराध के पीछे जमीनी विवाद होता हैं ।

एसडीओ ने थानाध्यक्ष के नाम जारी किया निर्देश

न्यायालय ,अनुमंडल दंडाधिकारी, दानापुर ने ज्ञापांक -557 दिनांक -1 जुलाई 2020 को थानाध्यक्ष शाहपुर के नाम से निर्देश पत्र जारी करते है की प्रिया कुमारी बनाम समरेन्द्र सिंह वगैरह में जमीनी विवाद चल रहा हैं । धारा 144 के कार्रवाई के लिए स्पष्ट  जांच प्रतिवेदन दें। जब तक न्यायालय अगला आदेश नही देती है तब तक विवादित स्थल पर यथास्थिति एवं शांति व्यवस्था बनाएं रखें । इस आदेश के बावजूद विवादित स्थल पर दूसरे पक्ष द्वारा निर्माण कार्य कराया जा रहा है और पुलिस कार्रवाई के जगह मौन और मुग्दर्शक बनी हुईं हैं ।

क्या हैं मामला

पटना जिले के दानापुर अनुमंडल अंतर्गत शाहपुर थाना अंतर्गत मौजा लखनीपुर, खाता संख्या -204 ,प्लॉट संख्या -49 ,रकवा -73 डी पर पर विवाद चल रहा है।  उक्त प्लॉट को पाटलीग्राम बिल्डर्स प्राइवेट लिमिटेड का डायरेक्टर  प्रिया कुमारी ,पुत्री-अशोक मिश्रा ,नीतिबाग, थाना -रूपसपुर(पटना ) अपना दावा करती है वही उक्त जमीन को समरेन्द्र सिंह ,देविल सिंह ,सन्नी सिंह विजय कुमार ,बुद्धा कालोनी ,पटना अपना दावा करते है। इसको लेकर दोनों पक्षों में विवाद चल रहा हैं ।
loading...
Loading...

Related Articles