पटनाबिहार

महंथ रंगनाथाचार्य के आतंक से परेशान है कमजोर वर्ग, मारपीट के बाद सैकड़ों लोगों ने किया हड़ताल

ऊंचे पहुंच का धौंस दिखाकर गरीबों के साथ शोषण करने का आरोप , एससीएसटी में मामला दर्ज

>> मठ के 200 बिगहा जमीन को लेकर है विवाद ,महंथ पर पूर्व से है आधा दर्जन मामला

पटना ( अ सं ) । ” कोरोना ” के कारण वैश्विक रूप से आर्थिक क्षति हुईं हैं । गरीबों के सामने भूखमरी एक बड़ी समस्या बन गयी हैं । इधर नवादा जिले के नरहट के एक महंथ राग नाथा स्वामी  के आतंक से परेशान सैकड़ों महादलित, दलित ,कमजोर लोगों ने काम छोड़ हड़ताल कर दिया हैं और जल्द गिरफ्तारी की मांग किया हैं । पीडि़त का आरोप है महंथ ने मारपीट ,अश्लील गालीगलौज किया हैं । नवादा एसपी हरी प्रसाद एस  ने कहां की कोई हो ,किसी को कानून हाथ में लेने की इजाजत नहीं है। मामले की जांच होगी और हर हाल में कार्रवाई की जाएंगी ।

काम बंद कर हड़ताल पर गये दलित मजदूर

महंथ रंगनाथाचार्य और इनके लोगों द्वारा दलित परिवार के साथ मारपीट और गाली-गलौज करने के खिलाफ नरहट गांव के सैकड़ों महादलित/दलित /कमजोर वर्ग के मजदूरों ने सोमवार से काम बंद कर हड़ताल पर चले गये हैं । जिसके कारण कृषि कार्य प्रभावित हो गया हैं । कमजोर लोगों का आरोप है की आखिर हम कितने दिनों तक शोषण ,मारपीट के शिकार होते रहे। महंथ के आतंक से हम सभी भयभीत रहते हैं । पुलिस -प्रशासन ,महंथ पर कार्रवाई करने के बजाए उनके गलत कार्यों में साथ देती हैं । हमारी शिकायत तक सही ढंग से नहीं सुनी जाती ।

मारपीट के बाद है आक्रोशित और आंदोलित

नरहट निवासी नंदू राम और इसके परिवार के साथ बीते 12 जुलाई को बिना कारण महंथ रंगनाथाचार्य एवं इनके लोगों द्वारा मारपीट, गाली गलौज किये जाने से कमजोर वर्ग के लोग आक्रोशित है और आंदोलित हैं । नंदू राम ने महंथ रंगनाथाचार्य के खिलाफ नरहट थाने में कांड संख्या -166 /20 धारा -341/323/504/506/ 34 आईपीसी 3(1)(आर) (एस)  एससी/एसटी के तहत मामला दर्ज कराया हैं ।

मठ के 200 बिगहा जमीन को लेकर भी विवाद

नरहट गांव में सिताराम मठ हैं ।इसके अधिन करीब 400 बिगहा जमीन हैं ,अकेले नरहट में 200 बिगहा। मठ के स्वामी के रूप में रंगनाथाचार्य हैं । मठ का सही लेखा-जोखा नहीं रहने के लेकर लोग अक्सर सवाल खड़ा करते रहते है और विवाद हैं । वही स्वामी रंगनाथाचार्य, लोकसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं । आशा के विपरीत बहुत कम वोट मिलने के कारण स्वामी गुस्से में रहते हैं । ग्रामीण तो यहां तक बताते है की लोकसभा चुनाव के बाद स्वामी जी किसी भी ग्रामीण को माइक पर ही गालीगलौज करते हैं । जिससे भी ग्रामीण क्षुब्ध है और हटाने की माँग किये है ।
loading...
Loading...

Related Articles