बिहार

बिजली की समस्या से पडेसान ग्रामीण एवं किसान

Villagers and farmers affected by electricity problem

छोटन शर्मा

गया। बिहार के गया जिले के कोंच प्रखंड के कोंच सबस्टेशन में बिजली की समस्या हर साल उत्पन हो जाति है, देहाती फीडर में केवल इस वर्ष नहीं हर साल समस्या आती है,पर ना तो इसका निदान करने के लिए कोई पदाधिकारी का ध्यान जाता है,और नहीं किसी नेतागण का। ग्रामीण या किसान हर समय अपने दम पर जितना हो सके तारपोल ठीक करते है ।

सुबह,दोपहर,शाम,रात,जिस भी समय दिक्कत होती हैं पोल पर चढ़कर उससे ठीक कर अपने खेतों की सिंचाई करते है,लेकिन पदाधिकारी तो माने ऐसे आते हैं जैसे कोई व्यक्ति ससुराल आया हो,ना ही कोई उन्हें आते देखता है ना जाते,और तो और पूछने पर बोलते है कि “हम क्या करे ओवरलोड पर फिटर चल रहा हैं एवं रेवेन्यू नहीं आता है। करिब पिछले 100 घंटे से बिजली नहीं चल रही है,1 से 2 मिनट चलने के बाद ड्रिप हो जा रहा हैं शाम को देहाती फिटर का बहुत से किसानों ने पावर हाउस जाकर कट प्वाइंट का जमफर छुड़ा दिया ताकि बिजली विभाग के अधिकारी आकर इसे दुरुस्त करे, क्योंकि इस बिजली से ना तो ठीक से पंखा चल रहा है,और ना ही किसी के घर के समरसेबल,एवं ना ही खेत का समरसेबल।

जरा सोचिए जिन किसानों का धान कि रोपाई के लिए खेत में कादो सुख रहा है,या फिर जिनके धान में पानी नहीं रहने के कारण धान मर रहा है,उन किसानों पर क्या बितती रही है। नितिश सरकार कहती है हम 24 घंटा बिजली दे रहे है तो ऐसे बिजली किस काम की जो सिर्फ पंखा चला सके,और किसान परेशान ही रहें।

loading...
Loading...

Related Articles