खेल

संगकारा ने धोनी को चुना इस मामले में सबसे बेस्ट

नई दिल्ली। श्रीलंका के पूर्व विकेटकीपर-बल्लेबाज कुमार संगकारा ने सौरव गांगुली नहीं, बल्कि महेंद्र सिंह धोनी को वनडे का बेस्ट बल्लेबाज बताया है। धोनी और गांगुली को भारत के दो बेहतरीन कप्तानों के रूप में जाना जाता है।

दोनों ने ही भारत को अनेक जीतें दिलवाई हैं, लेकिन संगकारा ने मैच को खत्म करने की धोनी की योग्यता के चलते उन्हें चुना। संगकारा के साथ-साथ गौतम गंभीर ने भी माना कि लिमिटेड ओवर्स के क्रिकेट में धोनी गांगुली से आगे रहे, क्योंकि उन्होंने सभी आईसीसी ट्रॉफियां जीती हैं।

उन्होंने कहा, ”एक कप्तान के रूप में बेशक आप इससे बेहतर रिकॉर्ड नहीं रख सकते। मुझे इसमें कोई शक नहीं हैं कि व्हाइट बॉल क्रिकेट में धोनी, गांगुली से आगे हैं।”

कुमार संगकारा ने स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ”वनडे क्रिकेट में मैच को फिनिश करने की योग्यता मेरे लिए हमेशा कठिन होती है। इसलिए मैं दोनों में से धोनी को ही चुनूंगा।
खासकर इसलिए भी क्योंकि वनडे में धोनी ने कठिन नंबर पर बल्लेबाजी की है। लेकिन टेस्ट क्रिकेट में बिना किस संदेह को सौरव गांगुली का नाम आएगा।”
संगकारा के इस चुनाव से बहुत से प्रशंसक हैरान हो गए होंगे। पूर्व श्रीलंकन विकेटकीपर संगकारा ने कहा कि बेशक वनडे में गांगुली, धोनी से 590 रन आगे हैं। गांगुली ने 311 वनडे में 11363 रन बनाए हैं जबकि धोनी ने 350 मैचों में 10773 रन बनाए हैं।

संगकारा ने गांगुली की तारीफ करते हुए कहा, ”गांगुली ने ही धोनी के लिए रास्ता बनाया।” उन्होंने कहा, ”आपको बहुत सारी बातों पर जज किया जाता है। दादा ने दूसरों के लिए शानदार विरासत छोड़ी, जिसे धोनी ने ग्रहण किया। धोनी एक बेस्ट खिलाड़ी, अविश्वसनीय कप्तान हैं, जिन्होंने भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाने में अहम भूमिका निभाई, लेकिन सच यह भी है कि इसकी नींव सौरव गांगुली ने रखी।”

गंभीर ने भी कहा था, ”सौरव को देखिए… उन्होंने युवराज सिंह, जो दो विश्व कपों में टीम में रहे (2007 का टी20 और 2011 का वनडे विश्व कप) वह ‘मैन आॅफ द सीरीज’ थे। इसके अलावा सौरव गांगुली ने हरभजन सिंह, वीरेंद्र सहवाग, जहीर खान जैसे धाकड़ खिलाड़ी छोड़े थे, जिनसे दुनियाभर के खिलाड़ी डरते थे।”

उन्होंने आगे कहा,”लेकिन जब धोनी ने कप्तानी छोड़ी तो उन्होंने विराट के लिए क्वॉलिटी प्लेयर नहीं छोड़े। विराट, रोहित या जसप्रीत बुमराह ही इस वक्त टीम में हैं। टीम में ऐसे खिलाड़ी नहीं हैं, जो दुनिया की किसी भी टीम को हरा सकें। या आपको कोई बड़ा टूनार्मेंट जीतकर दे सकें।”

loading...
Loading...

Related Articles