कारोबार

कोरोना महामारी के चलते हवाई यात्रा की मांग में भारी कमी के कारण 25,000 कर्मचारियों की जा सकती है नौकरी

कोरोना की वजह से हर किसी का जीवन अस्थ व्यस्थ हो चुका है ऐसे में अमेरिकन एयरलाइंस ने अपने कर्मचारियों को यह सूचना दी है कि लगभग 25,000 कर्मचारियों कि कोरोना महामारी के चलते हवाई यात्रा की मांग में भारी कमी के कारण अक्टूबर में उनकी नौकरियों को खत्म किया जा सकता है। अमेरिकी के शीर्ष अधिकारियों ने बुधवार को कहा कि यदि पर्याप्त संख्या में श्रमिक दो साल तक के लिए आंशिक भुगतान के साथ अवकाश ले लेते हैं, तो यह छंटनी कम हो सकती है। एयरलाइन के सीईओ डग पार्कर और अध्यक्ष रॉबर्ट इसोम ने कर्मचारियों को भेजी नोटिस में कहा कि उन्हें छंटनी से बचे जाने की उम्मीद है,

क्योंकि महामारी का प्रकोप कम पड़ने से एक अक्टूबर तक हवाई यात्रा की मांग में तेजी आने का अनुमान है। वहीं भारत की सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India) ने अपने कुछ कर्मचारियों को छह महीने से लेकर पांच साल तक जबरन छुट्टी पर भेजने की तैयारी कर ली है। कंपनी ने सोमवार को जारी आधिकारिक बयान में यह जानकारी दी। इस दौरान छुट्टी पर भेजे गए कर्मचारियों को वेतन नहीं दिया जाएगा। आधिकारिक आदेश में कहा गया,

‘यह योजना (LWP) कंपनी के स्थायी कर्मचारियों को बिना वेतन छुट्टी पर भेजने के लिए शुरू की जा रही है। इसमें कर्मचारी छह महीने से लेकर पांच साल की अवधि तक के लिए छुट्टी पर भेजे जा सकते हैं।’ यह योजना कंपनी के स्थायी कर्मचारियों के लिए लागू होगी। आदेश में कहा गया, ‘सात जुलाई, 2020 को संपन्न हुई बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की 102वीं बैठक में इस योजना को मंजूरी दी गई। इसमें कर्मचारी छह महीने से लेकर दो साल तक, जिसको पांच साल तक बढ़ाया भी जा सकता है, छुट्टी पर जाने का विकल्प का फायदा उठा सकते हैं।

loading...
Loading...

Related Articles