मथुरा

आखिर विधायक हैं…नियम कानून तो आम आदमी के लिए होत हैं

मथुरा। आखिर विधायक हैं, वह भी सत्ताधारी दल के, रही नियम कानून की बात तो वह आम आदमी के लिए होते हैं। बल्देव क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश कोरोना काल में लगातार नियमों की धज्जियां उडाते रहे हैं। यही हाल सत्ताधारी दल के दूसरे नेताओं का रहा है। मामला नगर निगम मथुरा वृंदावन के मनोनीति पार्षदों के शपथग्रहण समारोह का रहा हो अथवा छुटभैया नेताओं द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के जन्मदन कार्यक्रमों का। इतना ही नहीं मास्क वितरण के बहाने प्रधानमंत्री का पत्र और पत्रिका साथ लेकर संदेश घर घर पहुंचाने निकले भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी कोविड-19 के नियमों की जमकर धज्जियां उडायीं। यह क्रम निरंतर जारी है। इस बार अपने जन्मदिन के मौके पर विधायक जी कोरोना को भूल गये।
ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जन जागरूकता समिति उत्तर प्रदेश के प्रदेश मुख्य संरक्षक विधायक पूरन प्रकाश का 66 वां जन्मदिन धूमधाम के साथ संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया। प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित ने कहा हमारे मुख्य संरक्षक विधायक पूरन प्रकाश हमेशा ऐसे जरूरतमंद और असहाय लोगों को मदद पहुंचाने का काम करते हैं। यही कारण है अलग-अलग विधानसभाओं से चुनाव जीतकर पांच बार विधायक बने हैं। हमारी टीम उनके जन्मदिन पर शुभकामना देने के साथ संकल्प दिवस के रूप में मना रही है जिससे आने वाले समय में टीम भी ऐसे लोगों के लिए मददगार साबित हो जिनका किसी भी स्तर पर शोषण या फिर आवश्यकता पड़ रही हो ऐसी में हमारी टीम उस व्यक्ति के साथ हमेशा खड़ी रहेगी। जिला अध्यक्ष राहुल शर्मा ने का कि हमारे लिए गौरव की बात है आज हम अपने संरक्षक का 66 वां जन्म दिन संकल्प पर रूप में मना रहे हैं इसमें हम लोगों ने संकल्प लिया है कि हम भी पिछले समय से और अधिक जरूरतमंद असहाय लोगों की सेवा करेंगे स महिला प्रकोष्ठ महानगर अध्यक्ष सुनीता उपाध्याय वा युवा महानगर अध्यक्ष अर्जुन पंडित ने कहा युवा वर्ग को विधायक पूरन प्रकाश से प्रेरणा लेनी चाहिए। उन्होंने समाज की इतनी अधिक सेवा कि है आज एक बार चुनाव जीतने के बाद दूसरी बार उनके जीतने की लाले पड़ जाते हैं स यहां तो जब विधानसभा से उन्होंने चुनाव लड़ा वहां से विजयश्री प्राप्त की इसलिए सभी को इंसानियत के तौर पर जरूरतमंद लोगों और असहाय लोगों की मदद करनी चाहिए स इस अवसर पर पूर्व ब्लाक प्रमुख पुष्पा प्रकाश, पंकज प्रकाश, तरुण प्रकाश, सरोज गोला, आचार्य लक्ष्मी कांत शास्त्री, चंद्र मोहन दीक्षित, हेमंत अग्रवाल, विनोद पांडे निशांत शर्मा, अनूप चतुर्वेदी, चंद्रकांत पांडे ,अनिल रावत, विनोद पांडे आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

loading...
Loading...

Related Articles