शामली गैस रिसाव से 200 बच्चे प्रभावित

लखनऊ। यूपी के शामली में एक शुगर मिल से गैस लीक होने के बाद सरस्वती शिशु मंदिर स्कूल के 200 छात्र गैस की चपेट में आ गए। छात्रों को पहले सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। मगर सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी होने के कारण छात्रों को दूसरे अस्पतालों में रिफर कर दिया गया है।

200 छात्रों में से 175 छात्रों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। जबकि 23 बच्चे अभी भी भर्ती हैं।

बताया जा रहा है जिस स्कूल में बच्चे पढ़ते हैं। उसके पास में ही एक शुगर मिल है। जहां से हुए गैस रिसाव के कारण बच्चों की हालत बिगड़ गई। लोगों ने बताया कि स्कूल के पास ही शामली शुगर मिल का बायो गैस प्लांट है। इस शुगर मिल के लोगों ने सड़क के किनारे केमिकल फेंक दिया। इस केमिकल की महक इतनी ज्यादा थी, कि स्कूल के बच्चों पर इसका प्रभाव पड़ने लगा। इसी कारण बच्चों के गले में, छाती में जलन और घबराहट होने लगी। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि प्लांट से किसी गैस का रिसाव हुआ। जिसके कारण बच्चों की हालत बिगड़ी।

अस्पताल में इतनी बड़ी संख्या में पहुंचे बीमार बच्चों के इलाज में डॉक्टरों के हाथ-पांव फूल गए। आननफानन में बच्चों का इलाज शुरू किया गया। इंतजाम न होने के कारण अस्पताल में सारी व्यवस्थाएं फेल हो गईं। बच्चों से ही अस्पताल के सारे बेड़ फुल हो गए। यहां आए दूसरे मरीज़ो का इलाज प्रभावित हो गया। बीमार बच्चों में लगभग 30 बच्चों की हालत गंभीर बताई जा रही है। उन्हें प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

=>