Main Sliderपटनाबिहार

बिहार: लोजपा की अपील- महामारी के समय न हो चुनाव, मुश्किल में पड़ सकती है लोगों की जान

पटना. बिहार चुनावो को लेकर लोक जन शक्ति पार्टी ने चुनाव आयोग को एक पत्र लिखा है। यह पत्र सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना हुआ है। भाजपा सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर बिहार विधानसभा चुनाव अक्टूबर-नवंबर में नहीं कराने की मांग की है। पार्टी के नेताओं का मत है कि महामारी के हालात में चुनाव कराना जानबूझकर लोगों को मौत की तरफ धकेलने के समान होगा।

लोजपा ने कहा है कि इस समय संसाधनों का इस्तेमाल कोविड-19 संकट से निपटने में तथा राज्य में बाढ़ से निपटने में होना चाहिए, न कि चुनाव कराने में। कोरोना वायरस महामारी पहले ही खतरनाक स्वरूप ले चुकी है और जानकारों का मानना है कि अक्टूबर-नवंबर में यह और खतरनाक स्तर पर हो सकती है, इसलिए इस समय प्राथमिकता लोगों की जान बचाने की होनी चाहिए, न कि चुनाव कराने की।

आपको बता दें कि चुनाव कराने के संबंध में लोजपा का रुख राजग में भाजपा की अन्य सहयोगी पार्टी जदयू के विपरीत है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले जदयू ने समय पर चुनाव कराने की वकालत की है और इसकी तैयारियों के सिलसिले में पार्टी संगठन स्तर पर बैठकें भी कर रही है। भाजपा का कहना है कि चुनाव की तारीखों पर कोई भी फैसला चुनाव आयोग का विशेषाधिकार है, वहीं बिहार में मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल कोरोना वायरस के खतरे के मद्देनजर चुनाव टालने की मांग कर चुका है। आयोग ने चुनाव कराने पर सभी दलों के विचार पूछे हैं।

loading...
Loading...

Related Articles