पटनाबिहार

बोरे में बंद लाश की हुईं पहचान ,आपसी रंजीश के कारण हुईं थी हत्या

मृतक के परिजन  के बयान पर दो लोगों के खिलाफ एफआईआर , ई-रिक्शा बरामद

>> किरोसिन तेल डालकर जलाने की गयी कोशिश , कई संदिग्ध से पूछताछ

पटना ( अ सं ) । बोरे में बंद लाश की पहचान सोनू उर्फ अंडवा के रूप में हुईं हैं । हत्या के पीछे आपसी रंजीश की बात सामने आयी हैं । मृतक की पत्नी के बयान पर दो लोगों को नामजद किया गया हैं । पुलिस ने घटना में इस्तेमाल ई-रिक्शा बरामद कर लिया हैं । बोरे में बंद लाश को अपराधियों ने किरोसिन तेल डालकर जलाने का प्रयास किया था।
     पटना पुलिस ने कंकरबाग थाना क्षेत्र के तारकेश्वर प्रसाद चौराहा के पास बीते 31 जुलाई 20 की रात्री में बोरे में बंद अध्यजला अज्ञात लाश बरामद किया था। लाश की पहचान चिरौढ़ाटाड़ मदन लाल जैन निवासी सोनू उर्फ अंडवा के रूप में हुईं हैं । मृतक के परिजन अंजली कुमारी के बयान पर कंकरबाग थाना में कांड संख्या 545/20 दर्ज किया गया ।
एसएसपी उपेन्द्र शर्मा ने एएसपी सदर के नेतृत्व में कंकरबाग थानाध्यक्ष अजय कुमार ,आईओ सत्येन्द्र कुमार सिंह एवं सुमन कुमार को लेकर टीम गठित किया ।
   गठित पुलिस टीम ने महज 24 घंटे के अंदर घटना में शामिल अपराधकर्मी रविश कुमार व सचिन कुमार उर्फ बमबम को गिरफ्तार कर लिया हैं । पुलिस ने घटना में इस्तेमाल ई-रिक्शा को बरामद किया हैं । पूछताछ में यह जानकारी मिली की आपसी रंजीश को लेकर हत्या किया गया है। हत्या के पूर्व नशा खिलाकर बेहोश कर दिया गया व फिर गला दबाकर हत्या कर दिया गया ।
loading...
Loading...

Related Articles