बिहार में हुआ एक छत के नीचे कैंसर जैसी घातक बीमारी के जांच व इलाज का सपना साकार

सवेरा कैंसर एंड मल्टी स्पैशलिटी हॉस्पिटल ने सफलतापूवर्क पूरे किये एक साल

पटना। एक वक्‍त था, जब बिहार में कैंसर जैसे जटिल बीमारियों का जांच और इलाज संभव नहीं था। अगर था भी तो वो बहुत आसान नहीं था। ऐसे में बिहार में एक छत के नीचे कैंसर जैसी बीमारी के लक्षण को पहचान करने, इसके समुचित जांच और चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए एक बड़े केंद्र की स्थापना की जरूरत महसूस हुई। इसलिए बीते साल आज के दिन बिहार में अत्‍याधुनिक अस्‍पताल सवेरा कैंसर एंड मल्टी स्पैशलिटी हॉस्पिटल की शुरूआत हुई, जिसको भारत के महामहिम उपराष्ट्रपति श्री एम वैकैया नायडू ने लोगों को समर्पित किया। उक्‍त बातें आज सवेरा कैंसर एंड मल्टी स्पैशलिटी हॉस्पिटल के एक साल पूरे पूर्वी भारत के प्रसिद्ध ऑनकोलॉजिस्ट डॉ वी पी सिंह ने कही।

उन्‍होंने बताया कि बिहार में कैंसर के इलाज का नया सवेरा – पीड़ित मानवता को समर्पित एक साल सफलतापूर्वक पूरा हुआ। मानव जीवन में एक ऐसी बीमारी जिसका नाम सुनते ही जिंदगी हारी नजर आने लगे, ऐसे में उसके समुचित उपचार और विशिष्ट सेवाओं के द्वारा इस रोग को कमतर करने की एक मुहिम का नाम है बिहार का सवेरा कैंसर एवं मल्टी स्पैशलिटी हॉस्पिटल। सफर तो 20 वर्ष पूर्व ही शुरू हो चुका था। पूर्वी भारत में इस रोग का नाम तो सब जानते थे। अंतर्राष्ट्रीय मानकों और आधुनिकतम तकनीक आधारित डायग्नोसिस एवं उचित जांच द्वारा सत्यापित उपचार की आवश्यकता हमेशा से थी।

उन्‍होंने कहा कि टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल मुंबई से बिहार के प्रसिद्ध IGIMS के रिजनल कैंसर संस्थान और महावीर कैंसर संस्थान में भी सर्जरी ऑनकोलीजी विभाग की स्थापना में अपने योगदान का जिक्र करते हुए कहा कि मैंने बिहार की सेवा करने और अपनी उपलब्धता सुनिश्चित करने का मन पहले से बना लिया था। यहां मरीजों से मिलने पर पता चला कि कैंसर सिर्फ एक व्यक्ति की बीमारी नहीं है , वरन इसका प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष प्रभाव तो मरीज के परिवार, या कई बार तो कई पीढ़ी तक पड़ जाता है।

उन्‍होंने बताया कि बीमारी के इलाज के साथ -साथ समाज को इसके कारणों और निवारण के प्रति जागरूक करने के उद्देश एवं एक छत के नीचे कैंसर जैसी बीमारी के लक्षण को पहचान कर इसके समुचित जांच और चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए एक बड़े केंद्र की स्थापना की जरूरत थी। इसी सोच के परिणामस्वरूप वर्ष 2016 के जनवरी माह में सवेरा कैंसर संस्थान के निर्माण की नींव रखी गई। तत्कालीन बिहार के राज्यपाल और वर्तमान में भारत के महामहिम राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द जी के कर कमलों द्वारा शिलान्यास के माध्यम से संस्थान की पहली ईंट जनवरी 2016 को जोड़ी गई। प्रसिद्ध ऑर्थोपेडिक सर्जन पद्मश्री डॉ आर एन सिंह मार्गदर्शन में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, महामहिम राज्यपाल के अलावे शहर के सैंकड़ों गणमान्य विभूतियां इस शुरूआत के साक्षी रहे।

loading...
Loading...

Check Also

डा0 रंजीत कुमार वर्मा विद्या भारती के क्षेत्रीय अध्यक्ष बने वहीं मुंगेर के मुकेश नंदन क्षेत्रीय सचिव

SANJAY RAJA मुंगेर। विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान जो विश्व की सबसे बड़ी गैर …