देवरिया

जिला प्रशासन के द्वारा पत्रकार अमिताभ पर फर्जी मुकदमे दर्ज किये जाने के विरोध में लामबंद हुए पत्रकार, सौंपा महामहिम को पत्रक

देवरिया। जनपद में जिला प्रशासन की दमनकारी नीतियों का मंगलवार को पत्रकारों ने जमकर विरोध जताया और काला फीता बांधकर सुभाष चौक से कलेक्ट्रेट पहुँचकर प्रतीकात्मक धरना के माध्यम से प्रशासन विरोधी नारे लगाए और पत्रकार अमिताभ पर दर्ज किए गए फर्जी मुकदमे की वापस लेने की मांग जिला प्रशासन के समक्ष रखी। इस दौरान पत्रकारों ने महामहिम राज्यपाल के नाम संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी प्रशासन राकेश पटेल को सौंपा।
वरिष्ठ पत्रकार प्रेम त्रिपाठी ने प्रशासन से मांग करते हुए कहा कि पत्रकार अमिताभ रावत के विरुद्ध फर्जी धाराओं में केस दर्ज करना निंदनीय कृत्य है।जिला अस्पताल में एक मासूम बच्चे के द्वारा स्ट्रेचर धकेलने की खबर वायरल होने पर विभिन्न अखबारों व न्यूज चैनलों में प्रसारित हुई थी उसके बाद जिला प्रशासन ने मामले को गंभीरता से लेते हुए दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की थी उसके कुछ ही दिन बाद जिला अस्पताल में एक मासूम बच्ची द्वारा सफाई किये जाने का वीडियो वायरल हुआ जिसको लेकर जिला प्रशासन अपना आपा खोते हुए पत्रकार अमिताभ रावत के ऊपर तमाम आरोप लगाते हुए फर्जी धाराओं में केस दर्ज करा दिया।
प्रशासन के इस कृत्य को जिले के पत्रकार निंदा करते हैं। इस दौरान जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राज्यपाल को पत्रक सौंपा व फर्जी मुक़दमे वापस लेने के लिए जिला प्रशासन को तीन दिन का समय दिया और आगे कहा कि हमारी मांग पूरी न होने तक आगे लड़ाई जारी रहेगी। इस दौरान संदीप तिवारी, नितेश तिवारी राकेश मणि,प्रेम चंद पांडेय, राम प्रताप पांडेय, सुदामा सिंह कृष्णा,लालबाबू, अवनीश राय, कुलदीप पाठक, प्रदीप श्रीवास्तव, पुरुषोत्तम तिवारी,विनोद श्रीवास्तव, अजरेश चौहान, रवि रावत, राजेश त्रिपाठी,मन्नान अहमद,शैलेश ,नीतीश चौहान, अग्रसेन विश्वकर्मा,गोविंद  सहित अन्य पत्रकार उपस्थित रहे।
loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button