पटनाबिहारराष्ट्रीय

राजधानी में अबतक का सबसे बड़ा कोरोना धमाका ,एक साथ शिकार हुये 100 सीआरपीएफ जवान

पटना सिटी और मुजफ्फरपुर में हो रहा है इलाज ,आसपास में दहशत

>> पटना सिटी में जज व आईजीआईएमएस के कई डाक्टर हुये शिकार

पटना ( अ सं ) ।  बिहार में कोरोना में विकराल रूप लेते जा रहा है। राजधानी पटना का हाल सबसे बुरा हैं । कोरोना ने अबतक के सबसे बड़ा अटैक किया हैं । राजीवनगर स्थित सीआरपीएफ कैंप के 100 जवान कोरोना पॉजिटिव पाएं गये हैं । इनको अन्य जवानों से अलग करते हुये पटना सिटी व मुजफ्फरपुर इलाज के लिए शिफ्ट किया गया हैं । संक्रमित जवानों के साथ रहने वाले परिजनों का भी कोरोना जांच कराया जा रहा हैं । सीआरपीएफ कैंप में कोरोना पॉजिटिव राजीवनगर आसपास के रहने वालो लोगों में दहशत हैं । चुकी कुछ सीआरपीएफ जवान बाहर में किराये के मकान में निजी तौर पर रहते हैं । इससे पहले भारी संख्या में पटना स्थित बीएमपी के जवानों में कोरोना के लक्षण पाएं गये थे।
    वही पटना सिटी के एक जज को कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना ने वकीलों के लिए चिंता का विषय खड़ा कर दिया हैं । कोर्ट नहीं खुलने से जहां न्यायिक कार्य पूर्ण रूप से बाधित है वही रोजी -रोटी में काभी परेशानी को लेकर वकीलों ने विरोध -प्रदर्शन भी शुरू कर दिया हैं और इधर कोरोना थमने का नाम नहीं ले रहा हैं ।
कोरोना के इलाज में जुटे डाक्टरों व स्वास्थ्यकर्मी भी अपने स्वास्थ्य को लेकर काभी चिंतित हैं । देखा जाएं तो एनएमसीएच, पीएमसीएच, एम्स ,आईजीआईएमएस के दर्जनों डाक्टर व सैकड़ों कर्मचारी को कोरोना अपने चपेट में ले चुका हैं । जिससे इलाज -व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा हैं ।  हालाँकि बिहार सरकार ने जांच की गति काभी तेज कर दी है एक दिन में 50 हजार तक जांच की व्यवस्था की गयी है और प्रखंड स्तर के अस्पतालों में कोरोना जांच शुरू हो गयी है। प्राइवेट अस्पताल भी इलाज और जांच कर रहें हैं । बिहार में कोरोना से मरने वाले की संख्या प्रतिदिन 8-12 हो गयी हैं ।
loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button