उत्तर प्रदेशसीतापुर

तीन सगे भाइयों को सांप ने डसा, तीनों की मौत, पोस्टमार्टम से पहले तांत्रिक कर रहा इलाज

सीतापुर। सदरपुर थाना क्षेत्र में अपने घर में जमीन पर सो रहे तीन सगे भाइयों को सांप ने डस लिया। हालात बिगड़ने पर तीनों को पहले सीएचसी बिसवां, फिर महमूदाबाद के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। लेकिन तीनों की जान नहीं बचाई जा सकी। पुलिस ने तीनों शवों का पोस्टमार्टम कराने के लिए कहा है, लेकिन परिवार के लोग किसी तांत्रिक से इलाज कराने की जिद पर अभी शवों को रोके हुए हैं।

सदरपुर इलाके के पिपरी मजरा पिपरा कलां गांव निवासी सुनील कुमार अपनी पत्नी व बच्चों के साथ गुरुवार की रात घर के कमरे में सोया हुआ था। पति-पत्नी ने अपने तीनों बेटों बारह वर्षीय शालू, दस वर्षीय पवन व सात वर्षीय अंश को बीच में सुलाया था। आधी रात को बड़े बेटे शालू ने जाग कर मां-बाप को बताया कि उसे किसी ने काट लिया है। जब इन लोगों ने अपने दो अन्य बच्चों पवन व अंश को देखा तो पवन ने भी किसी के काटने की बात कही। अंश बेहोश था। इसी बीच कमरे में सांप दिखाई दिया।

सांप काटने की बात जानने के बाद परिवार के लोग फौरन तीनों बच्चों को लेकर बिसवां सीएचसी गये। जहां चिकित्सकों ने अंश को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद शालू व पवन को चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया, लेकिन परिवार के लोग शालू व पवन को जिला अस्पताल के बजाय महमूदाबाद किसी चिकित्सक के यहां ले गये। जहां उन दोनों की भी मौत हो गई।

खबर पाकर पुलिस मौके पर पहुंची। डीएम अखिलेश तिवारी ने एसडीएम बिसवां सुरेश कुमार को जांच के लिए गांव भेजा। एसडीएम, लेखपाल व पुलिस ने जांच पड़ताल की। बाद में तीनों का शवों का पोस्टमार्टम कराने को कहा गया, लेकिन परिवार के लोगों ने यह कहते हुए बच्चों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजने से रोक दिया कि उन लोगों ने झाड़-फूंक करने के लिए किसी बंगाली को बुलाया है। उसने बच्चों को ठीक करने का दावा किया है। उसके आने के बाद ही पोस्टमार्टम कराने भेजा जाएगा।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button