उत्तर प्रदेशकानपुर

दो दिन पहले जिसे दफना कर आये थे, वह पहुंचा घर, पुलिस और घर वाले सन्न

कानपुर। कानपुर के कर्नलगंज में 5 अगस्त को मिले शव की शिनाख्त में पुलिस और परिजनों दोनों ही धोखा खा गए। जिसे दफनाने का दावा किया गया वह शुक्रवार देर रात घर लौट आया। जब परिजनों और पुलिस ने उसे देखा तो उनके होश उड़ गए।

पुलिस अब उससे पूछताछ कर रही है। एसपी पश्चिम डॉ. अनिल कुमार ने माना कि जिसे अहमद शव माना जा रहा था वह घर लौट आया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

मूल रूप से चमनगंज निवासी अहमद हसन (39) चकेरी के ओमपुरवा स्थित आजाद पार्क के पास अपने दूसरे मकान पत्नी नगमा और दो बच्चे के साथ रहते हैं। उनके साले जैद के मुताबिक वह एसी रिपेयरिंग का काम करते है। 2 अगस्त को झगड़कर घर से निकल गए थे।

दूसरे दिन चकेरी थाने में उनकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। 5 अगस्त को यतीमखाना के पास एक लावारिस शव पाए जाने की सूचना मिली। परिवार के लोग पहुंचे और उसकी अहमद के रूप में पहचान की। पोस्टमार्टम के बाद उसे कब्रिस्तान में दफना दिया गया। शुक्रवार रात अहमद खुद घर पहुंचा तो सभी दंग रह गए।

परिवार के लोग उसे लेकर चकेरी थाने लेकर पहुंचे। उसने अपने बारे में पुलिस को जानकारी दी। एसपी पश्चिम डॉ. अनिल कुमार का कहना है कि अहमद घर लौट आया है। उससे पूछताछ की जा रही है। कर्नलगंज में मिले शव की फिर से शिनाख्त कराने की कोशिश की जाएगी।

अभी यह नहीं पता कि यतीमखाना के पास मिला शव किसका था। दफनाए गए शव को निकालकर डीएनए जांच के लिए सैंपल लिया जाएगा। भविष्य में यदि कोई दावा करता है तो डीएनए से मिलान कर पुष्टि कराई जाएगी।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button