हरदोई

झाड़-फूंक के चक्कर में सर्पदंश से महिला की इलाज के अभाव में हुई मृत्यु

झाड़-फूंक के चक्कर में सर्पदंश से महिला की इलाज के अभाव में हुई मृत्यु

कछौना,हरदोई।विकास खण्ड कोथावां की ग्राम सभा व ग्राम अटवा निवासी महिला पूनम (52) पत्नी रामचंद्र को गुरुवार रात सोते समय सर्प ने काट लिया। जिसके बाद परिजन उसे अस्पताल ले जाने की बजाय अज्ञानता के चलते झाड़-फूंक कराने में पड़े रहें। नतीजतन महिला की इलाज के अभाव में शुक्रवार सुबह मृत्यु हो गई।
उसके बाद परिजन बिना राजस्व व पुलिस को सूचना दिए मृतक महिला के शव का अंतिम संस्कार कर दिया। जिसके चलते परिजन दैवीय आपदा में मिलने वाले मुआवजा से भी वंचित हो गए।बताते चलें कि बरसात के समय में सर्पदंश की घटनाओं में इजाफा हो जाता है। जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में अज्ञानता व अंधविश्वास के कारण अधिकतर लोग सर्पदंश के बाद सबसे पहले ओझा व झाड़-फूंक के चक्कर में फंस जाते हैं। जिससे लोग असमय मौत के घाट उतर रहे हैं। इसके लिए कुछ हद तक सरकारी तंत्र को भी जिम्मेदारी से नकारा नहीं जा सकता है, क्योंकि सर्प दंश में लोगों को इलाज के प्रति जागरूकता पैदा करना भी शासन-प्रशासन की नैतिक जिम्मेदारी बनती है। जिससे लोगों की सर्पदंश से होने वाली असमय मृत्यु को सही समय पर इलाज पाकर कुछ हद तक रोका जा सकता है।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button