संतकबीर नगर

संत कबीर नगर, जिला मुख्यालय पर पहुंचे सपाइयों का प्रशासन पर फूटा गुस्सा

संतकबीरनगर

जिले के धनघटा तहसील क्षेत्र में घाघरा नदी अपना कहर बरपा रही है। खतरे के निशान से ऊपर बह रही घाघरा नदी के बाढ़ की चपेट में क्षेत्र के तकरीबन दो दर्जन से ज्यादे गाँव पूरी तरह से मैरुंड है। हाल ही में बाढ़ की चपेट में आने से तीन की हुई मौत मामले में परिजनों को दस-दस लाख रूपये के मुआवजे और बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद की मांग करते हुए सपाइयों ने डीएम को ज्ञापन सौंपा।
आपको बता दें कि जिलाध्यक्ष गौहर अली खान और दिग्गज सपा नेता केडी यादव के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पहुंचे सपाइयों ने बाढ़ की चपेट में आने से असमय ही मृत्यु के शिकार तीन लोगों के परिजनों को दस दस लाख रुपये की मदद की मांग समेत बाढ़ प्रभावित लोगों को तुरंत राहत पहुंचाने की मांग से जुड़ा ज्ञापन डीएम को सौंपा। इस दौरान जिलाध्यक्ष गौहर अली खान ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि धनघटा विधानसभा क्षेत्र में बाढ़ से वहां की जनता परेशान है, 3 दिन के अंदर 3 लोगों की मृत्यु हो चुकी है, और प्रशासन पूरी तरह से नाकाम साबित हो रहा है वहां कोई भी सुविधा प्रशासन उपलब्ध नहीं करा रहा है, जानवर भूखे मर रहे हैं, लाइट कटी हुई है, तेल नहीं मिल पा रहा है, राशन नहीं मिल पा रहा है। वहीं सपा के दिग्गज नेता केडी यादव काफी आक्रामक नजर आए। सपा नेता केडी यादव ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए कहा कि क्षेत्र की कई नदियां उफान पर है,घाघरा नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है,पूरे क्षेत्र में भयानक बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। घाघरा नदी की बाढ़ में डूबकर तीन बच्चों की मौत के बाद भी प्रशासन और सरकार संवेदनहीन बना हुआ है। उन्होंने कहा कि बाढ़ राहत के संबंध में आज जो स्थिति पैदा हुई है इसपर सरकार और प्रशासन एक भी दाना मदद नहीं कर रहा है और जो बाढ़ से पीड़ित बच्चे डूब कर मरे हैं उनके लिए हम लोगों ने दस दस लाख रुपए मुवावजे की मांग प्रशासन से किये हैं साथ ही जो गाँव मैरुंड हुए है, वहां के लोगो को राहत सामग्री के साथ जानवरो के लिए जो चारे के आभाव में भूखों मर रहे हैं उनके चारे की व्यवस्था कराये जाने की मांग किए

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button