बिहारभागलपुर

नपं उपाध्यक्ष के चालक की गोली मारकर हत्या !

गाड़ी खरीदने के बाद पार्टी देने पहुंचा था संतोष, पार्टी के दौरान ही कर दी हत्या !

भागलपुर | जिले के नवगछिया थाना क्षेत्र के एनएच 31 एक होटल के पास कल सोमवार की देर रात अपराधियों ने नगर पंचायत के उपाध्यक्ष अभिषेक रमन उर्फ टीएन यादव के गाड़ी के चालक रसलपुर निवासी सुभाष यादव के 30 वर्षीय पुत्र संतोष कुमार यादव की गोली मारकर हत्या कर दी है !

अपराधियों ने संतोष यादव को एक गोली सीने में मारी है । जो कि संतोष यादव के सीने के दाहिने ओर गोली लगी है। सीने मे गोली लगने के कारण मौत हो जाने की बात की जा रही है।
घटना की सूचना मिलने पर नवगछिया पुलिस मौके पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में लेकर अनुमंडल अस्पताल में पोस्टमार्टम हेतु पहुंचायी।

पुलिस ने घटना स्थल से एक देशी कट्टा बरामद किया है। साथ ही स्थल से ही इलाके के एक दबंग व्यक्ति को हिरासत में भी लिया है।
घटना को संदर्भ में मृतक के परिजनों ने बताया कि रविवार को संतोष ने एक यूपी नवर इनोवा गाड़ी खरीदा था। जिसको लेकर के कुछ दोस्तों के साथ राजमार्ग 31 स्थित चौक पर गया था। वहीं पर खाने-पीने की पार्टी थी। खाने पीने के दौरान ही अपराधियों ने उसकी गोली मारकर हत्या कर दी ! हत्या के बाद उसके शव को ट्रैक्टर के नीचे छुपा दिया था।
जानकारी के अनुसार घटना में हिरासत में लिए नवगछिया के उक्त बाहुबली अपराधी का हाथ होने की आशंका पुलिस द्वारा व्यक्त किया गया है। अपराधियों ने संतोष को काफी करीब से गोली मारी है। करीब से गोली मारे जाने के कारण जहां पर गोली लगी है वंहा उक्त जहग बारूद से जल गया है।

बताया जाता है कि मृतक संतोष राजद नेता बाहुबली विनोद यादव के कार ड्राइवर रहा था। पिछले कुछ वर्षों से अपने पैरों पर खड़ा होने का प्रयास कर रहा था। इसी को लेकर के रसलपुर में विवाद हुआ है। जिसके कारण इसकी हत्या हुई।

थानाध्यक्ष ने कहा

नवगछिया नगर थाना अध्यक्ष राजकपूर कुशवाहा ने बताया कि हम लोगों ने घटना के बाद मौके पर पहुंचकर जांच कियें। जहां पर एक देसी कट्टा बरामद हुआ है।

कहते हैं एसडीपीओ

एसडीपीओ परविंद्र भारती ने बताया कि एक संदिग्ध को हिरासत में लिया गया है। मामले में छापेमारी की जा रही है।
संतोष का अपराधिक इतिहास को भी देखा जा रहा है। हत्या में शामिल अपराधियों को चिन्हित कर लिया गया है। 24 घंटे के अंदर अपराधियों की गिरफ्तारी की जाएगी।

*अपन परिवार का एक मात्र सहारा था संतोष

मृतक अपने चार भाई बहनों में बड़ा भाई था। पत्नी समेत तीन बच्चों की उस पर जिम्मेदारी थी। जिसके ऊपर परिवार का पूरा भार था। इसी को लेकर के वह लगातार संघर्ष कर रहा था। इसी दौरान उसने उत्तर प्रदेश नंबर की एक इनोवा कार खरीद कर दो दिन पहले घर लाया था। मृतक के भाई ने बताया कि हम लोगों को पता नहीं था कि गाड़ी हम लोगों के लिए अपशकुन हो जाएगा। भाई को बुला कर हत्या कर देगा।

मृतक की पत्नी गुड़िया देवी का रो रो कर बुरा हाल है !

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button