झारखंडपटनाबिहार

पटना का टॉप टेन कुख्यात अपराधी माणिक सिंह झारखंड में गिरफ्तार !

वाट्सएप यूनिवर्सिटी  पर वायरल हो रही खबरें ,सच्चाई जानने के पीछे जुटी मीडिया

>> बिहार पुलिस नहीं कर रही पुष्टि , वरीय पुलिस अधिकारी कहं रहे कर रहे पता

>> बिहार -झारखंड में दर्ज है दर्जनों मामले ,लंबे अरसे से लगी थी बिहार पुलिस

रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । 50 लाख रूपये की रंगदारी की मांग को लेकर एक माह पहले बाप-बेटा गिरोह ने नौबतपुर में गोलीबारी किया था। इसके बाद बिहार पुलिस पुरी सक्रियता से बाप-बेटा गिरोह के सरगना कुख्यात मनोज सिंह ,माणिक सिंह के पीछे जुटी थी। वाट्सएप यूनिवर्सिटी व सोशल मीडिया पर गुरुवार की देर शाम खबर वायरल हुई की पटना जिले के नौबतपुर का कुख्यात माणिक सिंह को झारखंड से गिरफ्तार किया गया हैं । कुख्यात माणिक सिंह के रिश्तेदारों व परिजनों ने भी गिरफ्तारी की आशंका जताते हुये कई मीडिया से संपर्क किया हैं । हालाँकि बिहार पुलिस के वरीय अधिकारियों ने गिरफ्तारी की बात पर जानकारी करने की बात कहीं हैं । ऐसे पहले भी कई बार कुख्यात माणिक सिंह के गिरफ्तारी की अफवाह उड़ती रही हैं । ऐसे सुत्रों की मानें  तो पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर  बीते 6 माह से बिहार का एसटीएफ व पटना पुलिस की स्पेशल टीम बाप-बेटा गिरोह के गिरफ्तारी के पीछे जुटी थी। हाल ही पटना पुलिस ने बाप-बेटा गिरोह के 8 लोगों को हथियारों के साथ गिरफ्तार किया था।

बिहार -झारखंड में दर्ज है दर्जनों मामले

नाबालिग में ही हथियार उठा चुका कुख्यात माणिक सिंह ने सबसे पहले खगौल में एक मार्बल कारोबारी को गोली मारकर हत्या किया था। इसके बाद जमशेदपुर में माणिक सिंह ने कुख्यात रंजीत चौधरी के साथ मिलकर नाबालिग में ही ठेकेदार की गोली मारकर हत्या कर दिया था। बाढ़ कोर्ट परिसर में एक कैदी की हत्या हुई थी उसमें भी कुख्यात माणिक सिंह का नाम आया था।हाल ही में बिहटा में एक पूर्व मुखिया की हत्या गुर्गे से कराने का मामला सामने आया था। पुलिस ने दोनों शूटरों को गिरफ्तार कर लिया था। इसके साथ ही रंगदारी को लेकर कई लोगों पर गोलीबारी किया था। कुख्यात माणिक सिंह पर बिहार -झारखंड में दर्जनों मामले दर्ज हैं । बाप-बेटा गिरोह का सरगना कुख्यात माणिक सिंह गिरफ्तारी के डर से बिहार छोड़कर दूसरे राज्यों में पनाह लिये हुये था।

बिक्रम में दर्जनों हथियारों के साथ हुआ था गिरफ़्तार

क़रीब पांच वर्ष पहले पटना पुलिस ने कुख्यात मनोज सिंह व माणिक सिंह व इसके कई गुर्गों को दर्जनों हथियारों के साथ बिक्रम से जूता फ़ैक्ट्री से गिरफ़्तार किया था । ज़मानत पर छूटने के बाद नौबतपुर बाज़ार का ठेकेदारी लिया । रूपये के विवाद को लेकर अपने गिरोह के कुख्यात मुचकूंद सिंह से विवाद हो गया था ।
loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button