Main Sliderअन्य राज्य

प्रियंका, राहुल की सारी कोशिश बेकार, विधानसभा में कांग्रेस सदस्यों के सा​थ नही बैठेंगे पायलट

नई दिल्ली। राजस्थान में कांग्रेस सचिन पायलट को मनाकर वापस घर लाने मे भले ही कामयाब हो गई हो लेकिन वो पहले की तरह कांग्रेसी नही रह गये है। जानकारी के मुताबिक राजस्थान की राजनीति में बगावत के बाद उपमुख्यमंत्री के पद से हटाए जाने के बाद अब सचिन, विधानसभा में सीएम गहलोत के साथ नहीं बैठेंगे। बताया जा रहा है कि पायलट के लिए निर्दलीय विधायक संजय लोढ़ा के बगल वाली सीट अलॉट की गयी है।

बता दे कि राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने विधानसभा में विधायकों के बैठने के लिए नियम जारी किये हैं। जिसमें सीएम अशोक गहलोत की बगल वाली सीट पर अब सचिन पायलट की जगह संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल बैठेंगे। चूंकि सचिन पायलट मंत्री नहीं हैं इस लिए उन्हें 127 नंबर की सीट दी गयी है, जोकि निर्दलीय विधायक संजय लोढ़ा के बगल में है।

बता दें कि विधानसभा सत्र की कार्रवाई सुबह 11 बजे शुरू होगी। इस दौरान अशोक गहलोत सरकार की ओर से विश्‍वास प्रस्‍ताव लाने की संभावना है। दूसरी तरफ, बीजेपी भी कार्यवाही शुरू होते ही अविश्‍वास प्रस्‍ताव ला सकती है। ऐसे में स्‍पीकर डॉक्‍टर सीपी जोशी की भूमिका अहम हो जाएगी। वही तय करेंगे कि किसका प्रस्‍ताव स्‍वीकार किया जाएगा। बीजेपी खुद अपने ही विधायकों की वफादारी परखेगी।

बीजेपी ने विधायक दल की बैठक में अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाने का फैसला लिया गया।। बीजेपी अविश्वास प्रस्ताव के जरिये ये पता लगाने की कोशिश भी करेगी कि कहीं कोई विधायक अंदरखाने कांग्रेस के संपर्क में तो नहीं है।

बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि सरकार कई मुद्दों पर जूझ रही है। उनके विश्वास प्रस्ताव लाने की उम्मीद है, लेकिन हम भी अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए तैयार हैं। नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि पार्टी ने पूरी तैयारी कर रखी है। उन्होंने कहा कि सरकार एक महीने से बाड़े में बंद है।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button