बस्ती

स्वास्थ्य मंत्री ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ कोरोना से उत्पन्न स्थिति के लिए की समीक्षा

बस्ती- प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि कोरोना से हुयी प्रत्येक मृत्यु की मा0 मुख्यमंत्री द्वारा समीक्षा की जाती है इसलिए स्वास्थ्य विभाग इसको गम्भीरता से लेते हुए प्रत्येक मरीज को सुविधाए एंव ईलाज उपलब्ध कराये। सरकार इस कार्य में हर स्तर पर सहयोग कर रही है। वे पुलिस लाईन सभागार में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ कोरोना से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। 

उन्होने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री कार्यालय, स्वास्थ्य महानिदेशालय तथा स्वयं उनके द्वारा मरीजो से फोन पर वार्ता करके फीड बैंक लिया जाता है।  जिले में स्थापित कोविड अस्पतालों से कुछ शिकायते भी प्राप्त हुयी है। उन्होने कहा कि ऐसी स्थिति नही आनी चाहिए। सरकार इलाज, भोजन-पानी एवं दवाओं की पर्याप्त आपूर्ति कर रही है। स्वास्थ्य विभाग कुशल प्रबन्धन करके प्रत्येक मरीज को इनकी उपलब्धता सुनिश्चित कराये। 

उन्होने कहा कि कन्टेनमेन्ट जोन में प्रत्येक व्यक्ति की कोरोना टेस्टिंग तथा कोरोना मरीज के सम्पर्क में आये व्यक्ति का 72 घण्टे में कान्टेक्ट ट्रेसिंग सर्वाधिक महत्वपूर्ण कार्य है। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता क्षम्य नही होंगी।

स्वास्थ्य मंत्री ने ओपेक कैली अस्पताल, सभी कोविड अस्पतालों, जिला जेल के आईसोलेशन वार्ड के बारे में जानकारी प्राप्त किया। उन्होने एनआरसी, टीकाकरण अभियान, विटामिन ए, निमोनिया एवं कृमिनाशक नियंत्रण अभियान, दस्तक अभियान, डेंगू, जेई एईएस, मलेरिया आदि के बारे में जानकारी प्राप्त किया। उन्होने निर्देश दिया है कि सभी अस्पतालों में साफ-सफाई की उत्तम व्यवस्था होनी चाहिए। गन्दगी से भी बीमारी फैलने का अन्देशा होता है। ओपेक कैली अस्पताल की व्यवस्थाओं के बारे में डाॅ0 जीएम शुक्ला, जिला अस्पताल के बारे में डाॅ0 रोचस्पति पाण्डेय, महिला अस्पताल के बारे में डाॅ0 सुषमा सिन्हा ने व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दिया। 

सीएमओ डाॅ0 एके गुप्ता ने बताया कि कुल 47607 व्यक्तियों सैम्पल लिया गया है, इसमें से 47435 का परिणाम प्राप्त हो गया है। इसमें से 45625 व्यक्तियों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुयी है। अब तक कुल 1810 पाॅजिटिव मिले है। उन्होने बताया कि होम आईसोलेशन में कुल 98 कोरोना मरीज है और इनकी देख-भाल रैपिड रिस्पान्स टीम द्वारा किया जाता है। 

बैठक में पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा, अपर निदेशक स्वास्थ्य डाॅ0 जीके शाही, एडीएम रमेश चन्द्र, प्रधानाचार्य मेडिकल कालेज डाॅ0 नवनीत कुमार, डाॅ0 सीके वर्मा, डाॅ0 आईए अंसारी, डाॅ0 फखरेयार, डाॅ0 सीएल कन्नौजिया, मनीष शुक्ला उपस्थित रहें। 

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button