उरई

दलित उत्पीड़न व हत्या के मामले में सही कदम न उठाने का सरकार पर लगाया आरोप, राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

उरई। भीमआर्मी के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सौपकर दलित उत्पीड़न व हत्याओं के मामलों में सरकार द्वारा सही कदम न उठाये जाने का आरोप लगाया है।

भीमआर्मी भारत एकता मिशन के मण्डल अध्यक्ष झांसी अखण्ड प्रताप सिंह के नेतृत्व में सुशील चैधरी, मानवेंद्र सिंह बौद्ध, राघवेंद्र सिंह, अमित चैधरी, प्रदीप कुमार, आशीष बौद्ध, सोनू चैधरी, अजय जाटव, कमलेश सागर, जयचंद चैधरी, विपिन, वीरेंद्र आदि ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन प्रशासन को भेंट करते हुए बताया है कि जनपद जालौन में विगत कई महीनों से हो रहे दलित उत्पीड़न व हत्या के मामलों को प्रदेश सरकार ने कोई भी कड़े कदम नहीं उठाये है।

भीमआर्मी के नेताओं का कहना है कि अभी हाल में दलित लड़कियों को गलत चोरी के आरोप में उरई बाजार के मोबाइल व्यापारी ने पुलिस को गलत सूचना देकर पुलिस से पकडवा दिया और पुलिस लड़कियों को अपने साथ पुलिस कोतवाली उरई लेकर आयी जहां दरोगा रानी गुप्ता ने लड़कियों के साथ मारपीट की। जिससे क्षुब्ध होकर नीशू चैधरी ने अगली सुबह फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी।

भीमआर्मी ने मांग की है कि आरोपी दरोगा एवं महिला दरोगा व अन्य आरोपी दुकानदारों पर मुकदमा दर्ज किया जाये तथा शासन के द्वारा बीस लाख रुपये की आर्थिक सहायता पीड़ित पक्ष को उपलब्ध करवाई जाये। भीम आर्मी के लोगों का कहना है कि अगर सात दिन के अंदर मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो समस्त भीम आर्मी एवं समस्त सामाजिक संगठन बड़े स्तर पर उ. प्र. में जन आंदोलन व चक्काजाम करेंगे। इस मौके पर आलोक बन्टी, प्रदुम, कमलेश सागर, प्रीतम, रविराज, किरन, शीलिमा बौद्ध सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button