उत्तर प्रदेश

अवध शिल्प ग्राम में बनेगा ’मेक-इन-यूपी’ पेवेलियन

लखनऊ। विलुप्त हो रहे पारम्परिक और पुश्तैनी रोजगार विधाओं के कलाकारों व हस्तशिल्पियों को योगी सरकार अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पहचान दिलायेगी। इसके लिए अवध शिल्प ग्राम को व्यवहारिक एवं व्यापारिक गतिविधियों के प्रमुख केन्द्र के रुप में विकसित किया जाएगा। यही नहीं अवध शिल्प ग्राम में मेक-इन-यूपी पेवेलियन भी स्थापित किया जाएगा।

सूबे के औद्योगिक विकास एवं अवस्थापना विकास आयुक्त डा. अनूप चन्द्र पाण्डेय ने गुरूवार को आईपीएन को बताया कि अवध शिल्प ग्राम को अत्यन्त ही आकर्षक, व्यवहारिक एवं व्यापारिक गतिविधियों के प्रमुख केन्द्र के रुप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सम्बंधित अधिकारियों को निर्देशित किया गया है कि शिल्प ग्राम का पूरे वर्ष लगातार संचालन सुनिश्चित करने के लिए बेहतरीन एवं गुणवत्तायुक्त आवश्यक बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रबंध किए जाएं। उन्होंने कहा कि प्रदेश की विशिष्ट विधा को राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए शिल्प ग्राम को बेहतरीन प्लेटफार्म बनाया जाएगा।

पाण्डेय ने कि विलुप्त हो रहे पारम्परिक-पुश्तैनी रोजगार विधा के कलाकारों व हस्तशिल्पियों को हर सम्भव प्रोत्साहन देने की व्यवस्था इस ग्राम में की जाएगी। गैर पारम्परिक उद्योगों में उत्पादों को आमजन तक लाने तथा उनके बारे में जानकारी पहुंचाने का यह सबसे उपयोगी स्थल बनेगा।

औद्योगिक विकास आयुक्त ने कहा कि शिल्प ग्राम में निर्यात प्रोत्साहन केन्द्र, पुस्तकालय, व्यापारिक पर्यटक प्रोत्साहन एवं समन्वय केन्द्र की स्थापना की जाएगी। कृषि एवं हार्टिकल्चर से सम्बंधित निर्यात की जाने वाली वस्तुओं को प्रदर्शन भी इसमें किया जाएगा।
अवध शिल्प ग्राम में मेडिकल डिसपेन्सरी, मेडिकल शॉप, बैंक, विद्युत, पेयजल, सफाई व्यवस्था, फूडकोर्ट, सुरक्षा व्यवस्था, उद्यानो के समुचित रख-रखाव आदि का उत्कृष्ट प्रबंध किया जाएगा। उन्होंने कहा कि शिल्प ग्राम में आयोजित होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों में भागीदारी के लिए 15 विभिन्न थीम्स पर आधारित लेजर शो का भी आयोजन होगा। खरीददार तथा व्यापारियों में आपसी सामंजस्य स्थापित करने के लिए क्रेता-विक्रेता सम्मेलन आयोजित किए जाएंगे।

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com