उत्तर प्रदेशलखनऊ

दूध व्यापारियों को विस्थापित करने के विरोध में किसान मंच ने किया प्रदर्शन, सौंपा ज्ञापन

लखनऊ। राष्ट्रीय किसान मंच (कृषक सेवा समिति) ने सोमवार को अवध पशुपालक प्रकोष्ठ की समस्याओं को लेकर प्रदर्शन किया और नगर आयुक्त को सात सूत्रीय ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शन का नेतृत्व किसान मंच के प्रदेश अध्यक्ष प्रशान्त तिवारी एवं अवध पशुपालक प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों ने किया।


इस अवसर पर मंच के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि दूध व्यापारियों, (डेरी व्यवसाईयों) को बिना किसी उचित प्रबन्ध के विस्थापित करना लोकतंत्र पर कुठाराघात हैं। हजारों दुग्ध व्यवसायी इस हालात में कहा जायेंगे। उनके पशु व उनके परिवार का भविष्य चौपट हो रहा है।
एकाएक नगर निगम के फैसले से लगभग 5 हजार दुग्ध व्यवसायी प्रभावित हो रहे है। 1999 कैटिल कालोनी में 450 प्लाट आवंटित किये गये थे। जिनमें करीब 250 प्लाट गोमती के निर्माण कार्य की भेंट चढ गयी जबकि अब शहर में 5 हजार दुग्ध व्यवसाईयों में परिवार इस व्यवसाय से जुडे़ हैं। कहा कि दूध व्यापारियों को बिना कहीं जमीन दिये उन्हें हटाना असंवैधानिक एवं मानवता को शर्मसार कर देने वाला है।

ज्ञापन देने वालों में अवध पशुकल्याण प्रकोष्ठ के अध्यक्ष मो0 आसिफ, उपाध्यक्ष मुकेशपाल, महामंत्री हामिमुद्दीन, मंत्री राजकिशोर, रूबियान, मो0 फैजल, हनीफ, एवं राष्ट्रीय किसान मंच के संगठन मंत्री संजय कुमार द्विवेदी, महिला प्रकोष्ठ की प्रदेश अध्यक्ष ऋचा चतुर्वेदी, सुनीता पॉल, शीतल श्रीवास्तव, कोमल आदि।

loading...
Loading...

Related Articles