Sunday, October 18, 2020 at 8:00 PM

एआरटीओ कार्यालय में जिला प्रशासन का छापा, कई फाइलों को लिया कब्जे में

 

जौनपुर। कोरोना काल में भी एआरटीओ कार्यालय में भ्रष्टाचार व अवैध वसूली का सिलसिला जारी है। बताया जाता है कि बगैर पैसे के यहां पर तैनात बाबू और अफसर कागज को हाथ तक नही लगाते। लगातर मिल रही शिकायतों को संज्ञान में लेते हुए जिलाधिकारी के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट व सीओ सिटी ने भारी पुलिस बल के साथ एआरटीओ विभाग में अचानक छापेमारी कर दिया। छापेमारी से एजेंटों व कार्यालय के बाबुओं में हड़कंप मच गया। टीम ने मौके से नौ संदिग्ध फाईलों को जाँच के लिए कब्जे में ले लिया।
जानकारी के अनुसार मंगलवार को डीएम के आदेश पर छापेमारी करने के लिए टीम करीब 11 बजे एआरटीओ कार्यालय धमक पड़ी। अचानक हुई छापेमारी से पूरे कार्यालय परिसर में हड़कंप मच गया। मौजूद कुछ दलाल दिवाल फांदकर भाग निकले। एक काउंटर पर नौ फाइले संदिग्ध अवस्था में पायी गयी, जिसे सिटी मजिस्ट्रेट ने अपने कब्जे में ले लिया। करीब एक घंटे की जांच पड़ताल के बाद टीम वापस लौट गयी।


अब आप इसी से अंदाजा लगा सकते है कि इस विभाग के अधिकारी कर्मचारी मुख्यमंत्री की भ्रष्टाचार विरोधी सोच के प्रति, कितने बेखौफ हैं !

श्रीप्रकाश “वर्मा”

loading...
Loading...