Saturday, October 17, 2020 at 3:35 PM

विश्वविद्यालय से पास होने वाले प्रत्येक छात्र को मिलेगी नौकरी

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय का पहला शैक्षणिक सत्र कंपनियों के साथ परामर्श से अगले वर्ष शुरू होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा, कंपनियों को इस कवायद में ‘‘उपभोक्ता’’ माना जाएगा।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने एक आनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘दिल्ली कौशल एवं उद्यमिता विश्वविद्यालय दिल्ली विधानसभा के एक अधिनियम के माध्यम से स्थापित किया गया है। मुझे यह घोषणा करते हुए प्रसन्न्ता हो रही है कि विश्वविद्यालय ने आज कार्य करना शुरू कर दिया है। इस विश्वविद्यालय की पहली बोर्ड बैठक आज आयोजित की गई।’’

उन्होेंने कहा कि ‘‘छात्रों को विश्वविद्यालय में कौशल और प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा ताकि वे संस्थान से पास होते ही आसानी से नौकरी प्राप्त कर सकें या व्यवसायिक प्रशिक्षण प्राप्त करके व्यवसाय को आगे बढ़ा सकें।’’ सरकार ने आईआईएम-अहमदाबाद में सेंटर फॉर इनोवेशन इनक्यूबेशन एंड इंटरप्रेन्योरशिप (सीआईआईई) की प्रमुख डा. निहारिका वोहरा को कुलपति नियुक्त किया है।

केजरीवाल ने कहा, कि इस विश्वविद्यालय का एकमात्र उद्देश्य और विचारधारा इस विश्वविद्यालय से पास होने वाले प्रत्येक छात्र के लिए रोजगार सुनिश्चित करना, या उन्हें व्यापार करने में दक्ष बनाना होना चाहिए।’’

loading...
Loading...