Friday, December 4, 2020 at 8:11 AM

कोरोना: देश की अर्थव्यवस्था को ले चौंकाने वाला खुलासा

नई दिल्‍ली। देश में लॉकडाउन खत्‍म होने के बाद धीरे-धीरे अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार हो रहा है। इस बीच रेटिंग एजेंसी ब्रिकवर्क रेटिंग्‍स का कहना है कि अर्थव्‍यवस्‍था में दिख रहा सुधार स्‍थायी नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक, जुलाई-सितंबर 2020 में इंडियन इकोनॉमी में 13.5 फीसदी गिरावट आ सकती है।

ब्रिकवर्क की रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्र सरकार की ओर से तुरंत ठोस कदम नहीं उठाए जाने पर देश की अर्थव्‍यवस्‍था में लगातार सुधार की स्थिति बने रहना मुश्किल होगा। अगस्त 2020 में मैन्युफैक्चरिंग पीएमआई 52 फीसदी थी, जो सितंबर में बढ़कर 56 फीसदी पर पहुंच गई। यह 8 साल में सबसे अधिक है। सितंबर 2020 में जीएसटी कलेक्शन 95,480 करोड़ रुपये हुआ, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 3.8 फीसदी ज्‍यादा है। पैसेंजर व्‍हीकल्‍स की बिक्री में 21 फीसदी बढ़ोतरी हुई है।

देश की अर्थव्‍यवस्‍था के कई सेक्‍टर्स के प्रदर्शन में बढ़ोतरी के बाद भी रेटिंग एजेंसी ब्रिकवर्क रेटिंग्‍स का कहना है कि यह सुधार कुछ ही समय के लिए है। चालू वित्‍त वर्ष की दूसरी तिमाही में पिछले साल के मुकाबले नए प्रोजेक्ट्स पर कैपिटल एक्सपेंडिचर 81 फीसदी तक गिरा है। इससे साफ है कि निवेश में गिरावट हुई है। इसके अलावा अगस्त 2020 में कोर सेक्टर ग्रोथ निगेटिव 8.5 फीसदी चली गई है। गोल्ड और कच्‍चे तेल के अलावा सभी वस्तुओं का आयात भी लगातार कम हुआ है।

loading...
Loading...