Friday, December 4, 2020 at 10:32 AM

IPL: दिल्ली को हराकर मुंबई ने रचा इतिहास, जीता 5वां खिताब

दुबई। रोहित शर्मा की फिफ्टी और ट्रेंट बोल्ट की घातक बोलिंग के दम पर मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को 5 विकेट से हराते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में इतिहास रच दिया। दिल्ली कैपिटल्स ने बोल्ट के झटकों से उबरते हुए कप्तान श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत की फिफ्टी की बदौलत 7 विकेट पर 156 रन बनाए। जवाब में मुंबई ने हिटमैन (51 गेंद, 5 चौके 4 छक्के, 68 रन) की कप्तानी पारी के दम पर 18.4 ओवरों में 5 विकेट खोकर लक्ष्य बेहद आसानी से पा लिया। इस जीत के साथ ही मुंबई इंडियंस ने टूर्नमेंट में खिताबी पंच जड़ दिया है। इस तरह श्रेयस अय्यर की कप्तानी वाली दिल्ली का पहली बार खिताब जीतने का सपना चूर-चूर हो गया। इससे पहले मुंबई ने 2013, 2015, 2017, 2019 में खिताब जीते थे। बता दें कि मुंबई इंडियंस सबसे अधिक खिताब जीतने वाली टीम है।

रोहित और डि कॉक ने दी मुंबई को तूफानी शुरुाआत
157 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुंबई इंडियंस ने तूफानी अंदाज में शुरुआत की। पहला ओवर करने आए आर. अश्विन को रोहित शर्मा ने छक्का लगाकर अपने तेवर दिखाए तो दूसरे ओवर में कागिसो रबाडा को क्विंटन डि कॉक ने दो चौके और एक छक्का जड़ डाले। फिर रोहित ने नॉर्त्जे को टारगेट किया और चौका-छक्का जड़ दिया। महज 4 ओवरों में मुंबई का स्कोर 45 रन हो गए थे।

डि कॉक आउट, लेकिन नहीं रुकी रनों की रफ्तार
हालांकि, क्विंटन डि कॉक 5वें ओवर की पहली ही गेंद पर स्टॉयनिश के शिकार हो गए। उनका कैच विकेट के पीछे पंत ने लपका। डि कॉक ने 12 गेंदों में 3 चौके और 1 छक्का की मदद से 20 रन बनाए। यह अलग बात है कि इसी ओवर की अगली दो गेंदों में सूर्यकुमार यादव ने चौका-छक्का लगाते हुए मुंबई का स्कोर 50 रनों के पार पहुंचा दिया। छह ओवर के बाद मुंबई के 1 विकेट पर 61 रन थे।

कप्तान को बचाने के लिए कुर्बान किया सूर्यकुमार ने विकेट
रोहित शर्मा और सूर्यकुमार धांसू अंदाज में पारी आगे बढ़ा रहे थे कि 11वें ओवर में तेज सिंगल चुराने के चक्कर में रोहित दूसरी छोर पर पहुंच गए। हालांकि, शुरुआत से ही ना ना ना करते दिखने वाले सूर्यकुमार ने कप्तान को बचाने के लिए अपना स्टेशन छोड़ दिया। वह 20 गेंदों में 19 रन बनाकर लौटे। जब यह विकेट गिरा तो रोहित को अपनी गलती का अहसास हुआ। वह काफी निराश दिखे।

36 गेंदों में रोहित की हाफ सेंचुरी, IPL में दूसरी बार हुआ ऐसा
12वें ओवर में रोहित ने रबाडा को दो चौके जड़े और इस दौरान 36 गेंदों में इस सीजन की तीसरी हाफ सेंचुरी पूरी की। यह दूसरा मौका है कि किसी भी आईपीएल फाइनल में दोनों टीमों के कप्तानों ने हाफ सेंचुरी पूरी की है। इससे पहले 2016 में डेविड वॉर्नर और विराट कोहली ने फिफ्टी जड़ी थी। यह फइनल सनराइजर्स हैदराबाद और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला गया था।

सूर्यकुमार के आउट होने के बाद बल्लेबाजी के लिए ईशान किशन ने कप्तान के साथ मोर्चा संभाला और जीत के करीब तक ले गए। इस बीच रोहित शर्मा बड़ी हिट लगाने के चक्कर में नॉर्त्जे की गेंद पर आउट हो गए। कायरन पोलार्ड (9) और हार्दिक पंड्या (3) का विकेट भी गिरा, लेकिन अंतर बहुत ज्यादा नहीं था तो मुंबई को जीत में मुश्किल में नहीं हुई।

श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत की बदौलत दिल्ली 156/7
श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत के अर्धशतकों की मदद से दिल्ली कैपिटल्स ने ट्रेट बोल्ट से मिले शुरुआती झटकों से उबरकर 7 विकेट पर 156 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया। दिल्ली का स्कोर एक समय तीन विकेट पर 22 रन था लेकिन इसके बाद अय्यर (50 गेंदों पर नाबाद 65 रन, छह चौके, दो छक्के) और पंत (38 गेंदों पर 56 रन, चार चौके, दो छक्के) ने चौथे विकेट के लिए 96 रन जोड़कर स्थिति संभाली। बोल्ट ने 30 रन देकर 3 और नाथन कूल्टर नाइल ने 29 रन देकर 2 विकेट लिए। दिल्ली ने अंतिम तीन ओवरों में केवल 20 रन बनाए।

रोहित शर्मा की फिफ्टी और ट्रेंट बोल्ट की घातक बोलिंग के दम पर मुंबई इंडियंस ने दिल्ली कैपिटल्स को 5 विकेट से हराते हुए इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) में इतिहास रच दिया। दिल्ली कैपिटल्स ने बोल्ट के झटकों से उबरते हुए कप्तान श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत की फिफ्टी की बदौलत 7 विकेट पर 156 रन बनाए। जवाब में मुंबई ने हिटमैन (51 गेंद, 5 चौके 4 छक्के, 68 रन) की कप्तानी पारी के दम पर लक्ष्य बेहद आसानी से पा लिया। इस जीत के साथ ही मुंबई इंडियंस ने टूर्नमेंट में खिताबी पंच जड़ दिया है। इससे पहले उसने 2013, 2015, 2017, 2019 में खिताब जीते थे।

चार बार की खिताब विजेता ने आज बता दिया कि वो क्यों सबसे बेहतरीन टीम है। मुंबई इंडियंस ने पहले विकेट के लिए 45 रन की साझेदारी की फिर दूसरे विकेट के लिए कप्तान रोहित शर्मा और सूर्य कुमार यादव के बीच 45 रनो ंकी साझेदारी हुई।

मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने पहले तो दिल्ली को अपने जाल में फंसाया और गेंदबाजो का बेहतरीन प्रयोग करते हुए दिल्ली को सस्ते में ही निपटा दिया। उसके बाद बल्लेबाजी करते हुए अर्धशतकीय पारी खेली। रोहित शर्मा ने 68 रनों की पारी खेली।

मुंबई इंडियंस ने आज शानदार गेंदबाजी की है। खासतौर पर आज बोल्ट की तारीफ करनी होगी कि उन्होंने अपने पहले ओवर की पहली ही गेंद पर मार्कस स्टॉयनिस को आउट कर दिया। उसके बाद फिर रहाणे का विकेट लेकर दिल्ली को मुसीबत में डाल दिया। बोल्ट ने चार ओवर में 30 रन देकर 3 विकेट झटके। वहीं नाथन कूल्टर नाइल ने 2 विकेट झटके।

आज बोल्ट की तारीफ करनी होगी कि उन्होंने अपने पहले ओवर की पहली ही गेंद पर मार्कस स्टॉयनिस को आउट कर दिया। उसके बाद फिर रहाणे का विकेट लेकर दिल्ली को मुसीबत में डाल दिया। बोल्ट के कारण ही आज दिल्ली बड़ी पारी नहीं कर पाई। बोल्ट ने चार ओवर में 30 रन देकर 3 विकेट झटके।

पूरे आईपीएल में रिषभ पंत का नहीं चला मगर फाइनल मुकाबले में उन्होंने अर्धशतक जमा दिया है पंत ने 38 गेंदों पर 56 रनों की पारी खेली। आईपीएल में उनका ये पहला अर्धशतक था। इससे पहले पंत की आलोचना हो रही थी कि उनके बल्ले से कोई पारी क्यो नहीं निकल रही।

दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान श्रेयस अय्यर ने आज कमाल की पारी खेली। अय्यर ने 50 गेंदों पर 65 रनों की पारी खेली। अय्यर अंतिम तक क्रीज पर डटे रहे। उन्हीं की बदौलत टीम सम्मानजनक टारगेट सेट कर पाई।

यूं आउट हुए दिल्ली के टॉप बल्लेबाज
पिच से उछाल मिल रही थी और दिल्ली के बल्लेबाज शुरू में उससे सामंजस्य नहीं बिठा पाए। उसने पहले चार ओवर में ही मार्कस स्टोयनिस, अजिंक्य रहाणे और शिखर धवन के विकेट गंवा दिए थे। बोल्ट पिछले मैच में चोटिल हो गए थे लेकिन पूरी तरह से फिट होकर नयी गेंद संभाली और पहली गेंद पर ही स्टोयनिस को विकेटकीपर क्विंटन डि कॉक के हाथों कैच कराकर दिल्ली के दांव का दम निकाल दिया। इसके बाद उन्होंने नए बल्लेबाज रहाणे (दो) को भी विकेट के पीछे कैच कराया जबकि राहुल चाहर की जगह टीम में लिए गए जयंत यादव (25 रन देकर एक) ने धवन (15) को बोल्ड करके अपने चयन को सही साबित किया।

अय्यर और पंत ने संभाला मोर्चा
अय्यर और पंत ने पारी संवारने का बीड़ा उठाया। इस बीच अय्यर जब 14 रन पर थे तब ईशान किशन ने कवर पर उनका मुश्किल कैच छोड़ा। पूरे आईपीएल में रन बनाने के लिए जूझने वाले पंत ने शुरू में टिककर खेलने को प्राथमिकता दी और स्ट्राइक रोटेट करने पर ध्यान दिया। दसवें ओवर में जब क्रुणाल पंड्या गेंदबाजी के लिए आए तो पंत ने दो गगनदायी छक्कों से उनका स्वागत किया। इसके कारण रोहित शर्मा को बुमराह को गेंद सौंपनी पड़ी थी।

पंत-अय्यर की फिफ्टी
रोहित ने गेंदबाजी में लगातार बदलाव किए लेकिन इन दोनों की एकाग्रता भंग करना मुश्किल था। अय्यर ने पोलार्ड पर अपनी पारी का पहला छक्का लगाया। पंत ने कूल्टर नाइल पर फाइन लेग पर चौका लगाकर इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक पूरा किया। इसी ओवर में उन्होंने हालांकि आसान कैच देकर अपना विकेट इनाम में दिया। लेकिन अय्यर टिके रहे। उन्होंने 40 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया लेकिन बोल्ट ने दूसरे स्पैल में आकर शिमरोन हेटमयर (पांच) को नहीं टिकने दिया जिससे दिल्ली की डैथ ओवरों की रणनीति भी गड़बड़ा गई।

loading...
Loading...