Monday, January 25, 2021 at 3:32 AM

बाजार रिकार्ड ऊंचाई पर, सेंसेक्स पहली बार 49,000 के पार

 

मुंबई। बीएसई सेंसेक्स सोमवार को 487 अंक उछलकर अब तक के सर्वोच्च स्तर पर बंद हुआ। विदेशी संस्थागत निवेशकों की जबर्दस्त लिवाली के बीच इन्फोसिस, एचडीएफसी बैंक, एचडीएफसी और एचसीएल टेक की अगुवाई में यह तेजी आयी। तीस शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 486.81 अंक यानी एक प्रतिशत बढ़कर 49,269.32 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान एक समय यह 49,303.79 अंक के उच्चतम स्तर तक भी चला गया था। इसी प्रकार, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 137.50 अंक यानी 0.96 प्रतिशत उछलकर 14,484.75 अंक पर बंद हुआ। कारोबार के दौरान इसने 14,498.20 अंक का स्तर भी छुआ। सेंसेक्स के शेयरों में एचसीएल टेक में सर्वाधिक करीब 6 प्रतिशत लाभ हुआ। इसके अलावा इन्फोसिस, एचडीएफसी, बजाज ऑटो, मारुति, टेक महिंद्रा और महिंद्रा एंड महिंद्रा में भी अच्छी तेजी रही। दूसरी तरफ, जिन शेयरों में गिरावट दर्ज की गयी, उनमें बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, रिलायंस इंडस्ट्रीज, एल एंड टी, कोटक बैंक और भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) शामिल हैं। रिलायंस सिक्योरिटीज के रणनीतिक मामलों के प्रमुख विनोद मोदी ने कहा कि घरेलू शेयर बाजारों पर तेजड़िये हावी रहे और दोनों मानक सूचकांक नये रिकार्ड स्तर पर बंद हुए। टीसीएस और डी-मार्ट के बेहतर तिमाही वित्तीय परिणाम से निवेशकों का भरोसा मजबूत हुआ है। उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 मामलों में बेहतर सुधार होने तथा 16 जनवरी से टीकाकरण प्रक्रिया शुरू किये जाने की घोषणा से बजार के लिये लिये स्थिति संतोषजनक बनी है। पुन: कपनियों की आय के साथ प्रमुख आर्थिक आंकड़े बेहतर रहने की उम्मीद से बाजार निकट भविष्य में नई ऊंचाई छू सकता है।’’ मोदी ने कहा कि वैश्विक अर्थव्यवस्था की स्थिति, केंद्रीय बैंकों के रुख और डॉलर के कमजोर होने के साथ एफपीआई (विदेशी संस्थागत निवेशक) निवेश आगे भी जारी रह सकता है। इस बीच, शेयर बाजार में उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) पूंजी बाजार में शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने गत सप्ताहांत शुक्रवार को 6,029.83 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे। एशिया के अन्य बाजारों में हांगकांग का हैंगसेंग, दक्षिण कोरिया का कोस्पी लाभ में रहे जबकि शंघाई कंपोजिट सूचकांक नुकसान में रहा। यूरोप के प्रमुख शेयर बजारों में शुरूआती कारोबर में गिरावट का रुख रहा। इस बीच, वैश्विक तेल मानक ब्रेंट क्रूड 1.52 प्रतिशत की गिरावट के साथ 55.14 डॉलर प्रति बैरल पर कारोबार कर रहा था।

Loading...