Friday, March 5, 2021 at 2:30 AM

संसद के सत्र के दौरान राष्ट्रपति के अभिभाषण और बजट प्रस्तुति के अलावा कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा

नई दिल्ली। लोकसभा और राज्यसभा सदस्यों को बजट सत्र के दौरान संसद में उपस्थित रहने के लिए कहा है। बताया जा रहा है कि इस दौरान सरकार द्वारा कई महत्वपूर्ण  विषयों पर चर्चा होगी। भाजपा संसदीय दल के कार्यालय सचिव बालासुब्रह्मण्यम कामर्सु ने इसे लेकर संसद के सदस्यों को एक पत्र लिखा है। इसमें कहा गया है कि विधायी कार्यों के अलावा महत्वपूर्ण विषयों पर सत्र के दौरान चर्चा होने की संभावना है।

पत्र में कहा गया, ‘संसद के सत्र के दौरान, राष्ट्रपति के अभिभाषण और बजट प्रस्तुति के अलावा, कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा होने की संभावना है इसलिए, सदन में आपकी (सांसदों की) उपस्थिति आवश्यक है।’

इसके अलावा सदस्यों से संसद सत्र के दौरान दिल्ली के बाहर कार्यक्रम न करने और सदन में अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करने का आह्वान किया गया है। सदन की शुरुआत 29 जनवरी को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के अभिभाषण के साथ होगी। बजट एक फरवरी को पेश किया जाएगा। इसके बाद 15 फरवरी से सात मार्च तक सत्र स्थगित रहेगा और आठ अप्रैल को सत्र का समापन होगा। मानसून सत्र की तरह इस सत्र के दौरान भी प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

क्‍या सत्र से पहले सांसदों को लगेगी वैक्‍सीन

इससे पहले लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला से सवाल किया गया था कि क्‍या संसद के सत्र से पहले सांसदों को कोविड वैक्‍सीन लगाई जाएगी इस पर उन्होंने जवाब दिया था कि हमारे डॉक्‍टरों और वैज्ञानिकों ने टीकाकरण को लेकर व्‍यापक और कड़ी मेहनत की है। जहां तक सांसदों को टीका लगाए जाने का सवाल है तो सरकार इस बारे में फैसला लेगी। सरकार सत्र शुरू होने से पहले सांसदों के टीकाकरण के बारे में दिशा-निर्देश जारी करेगी। इसके अलावा लोकसभा अध्यक्ष ने बताया था कि चूंकि सत्र महामारी के बीच होगा, इसलिए कोविड-19 संबंधी चुनौती है, लेकिन सत्र के दौरान सरकार की ओर से जारी किए गए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाएगा।

 

Loading...