Friday, March 5, 2021 at 9:31 AM

डार्क मोड का पहला लुक आया सामने…

नई दिल्ली । दरअसल Dark Mode न सिर्फ फोन या अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस में बैटरी की बचत करता है, बल्कि आंखों की जलन और बाकी दिक्कतों को कम करने में सहायक है। अक्सर कहा जाता है कि अगर आप आंखों की ख्याल रखना चाहते हैं, तो बेहतर होगा कि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस को Dark Mode पर चलाए। लेकिन इन दावों में सच्चाई नहीं है। iFixit की तरफ से इस बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है।

यह कुछ हद तक सच है। बता दें कि केवल OLED स्क्रीन वाले स्मार्टफोन में डॉर्क मोड बैटरी की कम खपत करता है। लेकिन LED स्क्रीन वाले स्मार्टफोन में डॉर्क मोड बैटरी की खपत को नहीं रोक पाता है। दरअसल स्क्रीन टाइप डॉर्क मोड में  बैटरी की बचत में काफी अहम रोल अदा करता है।

आखों को डॉर्क मोड से कम नुकसान की सच्चाई  

इनसाइडर ने Yale Medicine Ophthalmology के आंख रोग विशेषज्ञ Brian M. DeBroff के हवाले से लिखा है कि डॉर्क मोड आंखों को होने वाले नुकसान से बचान में कारगर नहीं है। यह आई स्ट्रेन जैसे सिर दर्द और आंखों में नम की कमी को रोकने में कारगर नहीं है। लेकिन इससे आपकी macula को कोई नुकसान भी नहीं होता है।

क्या होता है डॉर्क मोड 

लाइट कलर बैकग्राउंड को डॉर्क या ब्लैक कलर में बदलने का ऑप्शन देता है। मतलब आपकी डिवाइस का लाइट बैकग्राउंड और व्हाइट कलर बिल्कुल विपरीत हो जाएगा। डॉर्क मोड में बैकग्राउंट डॉर्क और टेक्स्ट व्हाइट हो जाएगा। OLED स्क्रीन हर एक पिक्सल से लाइट जनरेट करता है। मतलब ब्लैक पिक्सल कोई पावर का इस्तेमाल नहीं करते हैं।

Loading...