Friday, March 5, 2021 at 7:31 AM

पेट्रोलियम में मुल्य वृद्धि के खिलाफ मोदी का पुतला दहन

 

मनोज कुमार
संझौली(रोहतास)। रसोई गैस व पेट्रोलियम में बेतहाशा मुल्य वृद्धि के खिलाफ भाकपा-माले व महागठबंधन कार्यकर्ताओं के द्वारा रविवार को देर शाम अखिल भारतीय खेत व ग्रामीण मजदूर सभा , मनरेगा मजदूर सभा के नेतृत्व में प्रतिरोध मार्च निकालकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला दहन किया। प्रतिरोध मार्च में शामिल कार्यकर्ताओं ने संझौली मुख्य बाजार से न्यू एरिया होते हुए मीलन चौक पर प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया। भाकपा-माले जिला कमीटी सदस्य रवि शंकर राम ने कहा कि, नरेन्द्र मोदी भारत में हिटलर, मुसोलिनी के अवतार हैं , अभी देश में तीन काले कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन चल ही रहा था कि पेट्रोलियम में बेतहाशा मुल्य वृद्धि कर खुलेआम जनता की जेब काटना शुरू कर दिए हैं। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बाद भी पेट्रोलियम पदार्थो की कीमतों में भारी वृद्धि की गई है। भारत के 15 पड़ोसी देशों में 34रु पेट्रोल व 29.37रु डीजल बिक रहा है , वहीं भारत की जनता को 94रु से भी अधिक कीमत में खरीदना पड़ता है। भारत सरकार पेट्रोल पर 32.90रु व राज्य सरकार 20.61रु टैक्स के रूप में जनता की जेब कतर रही है , जबकि 31.80 भारत सरकार व 11.68रु राज्य सरकार डीजल पर टैक्स लेती है , वास्तविक पेट्रोल की कीमत 31.82रु व डीजल कीमत 33.46रु है, लेकिन हम से 53.51रु पेट्रोल पर और 53.48रु डीजल पर टैक्स वसूल किया जा रहा है और प्रधानमंत्री कह रहे है , पेट्रोलियम में मुल्य वृद्धि के जिम्मेवार पूर्ववर्ती कांग्रेसी सरकार है। कमेटी सचिव राम ने दोहराते हुए कहा कि अब ऐसी तानाशाह सरकार को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा आंदोलन जारी रहेगा।

Loading...