बिहार

फर्जीवाड़ा कर लिया गया 4 करोड़ 24 लाख का लोन ,सीबीआई ने दर्ज किया एफआईआर

 

लोन की पहले किस्त में ही निकल गया 3 करोड़ 64 लाख

सीबीआई ने बिहार के दूसरे मंत्री परिवार को बनाया निशाना

पटना (अ सं) । राजधानी पटना में फर्जीवाड़ा कर बैंक से लोन देने में पुरा गिरोह सक्रिय है।इसका खुलासा सीबीआई के एफआईआर के दर्ज एफआईआर से हुआ हैं । सीबीआई ने यूबीआई बैंक के दो मैनेजर एवं सोनाली ऑटोमोबाइल के मालिक सहित 6 के खिलाफ फर्जी कागजात पर 4 करोड़ 24 लाख रूपये लोन लेने का आरोप लगाते हुये सीबीआई ने एफआईआर दर्ज किया हैं।

बिहार सरकार के मंत्री चंद्रिका राय के भतीजा अभिषेक राय का पटना शहर के अनिसाबाद स्थित सोनाली, महिंद्रा ,ऑटोमोबाइल का शोरूम था। सोनाली ऑटोमोबाइल के कारोबार को बढ़ाने के लिए फ्रेजर रोड स्थित यूबीआई बैंक के मुख्य ब्रांच से 4 करोड़ 24 लाख रूपये फर्जी कागजात के आधार पर लिया गया था। इसकी गुप्त सूचना सीबीआई को मिली थीं।सीबीआई टीम ने जांच किया तो आरोप सही पाया गया ।सीबीआई ने जांच में पाया की लोन का एक मुस्त, पहली किस्त के रूप में 3 करोड़ 64 लाख रूपये की निकासी विधान चंद्र राय के खाते में कर दिया गया ।
सीबीआई ने यूबीआई बैंक के सीनियर मैनेजर ,कुमार आनंद ,फ्रेजर रोड स्थित बैंक के मैनेजर अरविंद नारायण सिंह ,सोनाली ऑटोमोबाइल के निदेशक अभिषेक राय, विधान चंद्र राय, एवं कविता राय सहित अज्ञात के खिलाफ फर्जीवाड़ा करने ,आईटी एक्ट, 120 (बी) एवं अन्य धाराओं के तहत पटना एसीबी, सीबीआई ने एफआईआर दर्ज किया हैं । इस मामले का आईओ केके सिंह को बनाया गया हैं ।सीबीआई का यह दूसरा मामला हैं जिसमें बिहार सरकार के मंत्री चंद्रिका राय के परिजनों के खिलाफ मामला दर्ज हुई हैं ।इससे पहले सीबीआई ने डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ,लालू प्रसाद यादव एवं राबड़ी देवी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किया हैं ।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button