खेल

IND vs SA 1st Test आज से लगातार सीरीज जीतने कर बदलना होगा इतिहास…


1992 से अब तक टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया का यह सातवां दक्षिण अफ्रीका दौरा है। इससे पहले हुए छह दौरों में भारत के लिए सर्वश्रेष्ठ परिणाम 2010 में रहा था। लगातार नौ सीरीज जीतने के वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर चुकी विराट की टीम शुक्रवार से उस मिशन पर उतरेगी जिसमें टीम इंडिया को 26 साल से सफलता नहीं मिली है। यह मिशन है दक्षिण अफ्रीका में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने का। तब तीन मैचों की सीरीज 1-1 से ड्रॉ रही थी।

इसके अलावा पांच सीरीज में भारत को हार का सामना करना पड़ा है। भारत यदि यह सीरीज जीतता है तो वह लगातार 10 सीरीज जीत का वर्ल्ड रिकॉर्ड बना देगा। धवन हैं फिट ऐसा होगा टीम इंडिया का बैटिंग ऑर्डर….

टीम इंडिया के लिए अच्छी खबर यह हैं कि शिखर धवन टखने की चोट से उबर चुके हैं। अब ओपनिंग में भारत के पास मुरली विजय शिखर और लोकेश राहुल के रूप में तीन विकल्प हैं। तीसरे नंबर पर पुजारा और चौथे नंबर पर विराट मौजूद रहेंगे। पांचवें पर रहाणे का खेलना तय लग रहा है। रोहित शर्मा और हार्दिक पंड्या में से किसी एक को मौका मिल सकता है।

बैटिंग के लिए अच्छी रहती है पिच

पिच पर काफी घास है। देखना है कि इसे मैच के दिन कम किया जाता है या नहीं। न्यूलैंड्स की पिच आम तौर पर घास के बावजूद बल्लेबाजी के अच्छी होती है। उत्तर-पश्चिम से हवा चलने पर सीम और स्विंग को मदद मिलती है। बादल छाए तो बल्लेबाजों की मुश्किल बढ़ सकती है।

हिसाब बराबर करना है: डुप्लेसिस

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डुप्लेसिस ने कहा कि उन्हें पता नहीं कि वे और सीनियर खिलाड़ी भारत के खिलाफ अगली सीरीज में खेल पाएंगे या नहीं। इसलिए वे इसी सीरीज में भारत में मिली हार का हिसाब चुकता करना चाहते हैं। 2015 में भारत ने अपने घर में द. अफ्रीका को 3-0 से हराया था।

साउथ अफ्रीका के मुख्य कोच ओटिस गिब्सन ने संकेत दिए हैं कि फास्ट बॉलर डेल स्टेन को अपनी वापसी के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है क्योंकि उनका भारत के खिलाफ शुक्रवार से शुरू होने वाले पहले टेस्ट क्रिकेट मैच में उतारना जोखिम भरा हो सकता है।

गिब्सन ने कहा डेल स्टेन फिर से फिट हैं लेकिन मैं नहीं जानता कि हम उन्हें इस हफ्ते खेलते हुए देखेंगे या नहीं। स्टेन चोट से उबरने के बाद वापसी कर रहे हैं। उन्होंने अपना आखरी टेस्ट मैच नवंबर 2016 में खेला था। वह फिट हैं लेकिन प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने के लिये उन्हें कुछ और मेहनत करनी होगी।

केपटाउन में दोनों टीमों का रिकॉर्ड
सीरीज का पहला मैच इसी मैदान पर खेला जाना है। यहां दोनों टीमों के बीच अब तक 4 टेस्ट मैच हुए हैं। इसमें से 2 मैच साउथ अफ्रीका ने जीते हैं जबकि दो मैच ड्रॉ रहे। टीम इंडिया को अब भी यहां अपनी पहली जीत का इंतजार है।

loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com